कोरोना की लगातार तीसरी शतकीय पारी, 139 पॉजिटिव आए

प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद अब कोरोना वायरस अपनी रफ्तार को कम करने के बजाए बढ़ा रहा है। हालत यह है कि अब मरीजों की सं या लगातार सौ के पार हो रही है, जो कि प्रशासन सहित आमजन के लिए चिंता का विषय बना हुआ है।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 19 Apr 2021, 09:35 AM IST

चूरू. प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद अब कोरोना वायरस अपनी रफ्तार को कम करने के बजाए बढ़ा रहा है। हालत यह है कि अब मरीजों की सं या लगातार सौ के पार हो रही है, जो कि प्रशासन सहित आमजन के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। शीघ्र ही कोई स त कदम नहीं उठाए जाने पर स्थिति भयावह रूप धारण कर सकती है। रविवार को मिली जांच रिपोर्ट में जिले में 139 व्यक्तियों के संक्रमण से ग्रस्त होने की जानकारी मिली है। आंकड़ों पर गौर करें तो सरदारशहर उपखंड में कोरोना की दूसरी लहर में 47 के संक्रमण से ग्रस्त होने की पुष्ठी हुई है। वहीं अबतक सुरक्षित समझे जाने वाले चूरू में भी लगातार विस्फोट स्थिति बन रही है। रिपोर्ट में चूरू तहसील के 35 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं राजगढ़ भी धीरे-धीरे हॉट स्पॉट बनता जा रहा है, यहां 28 लोगों में संक्रमण की पुष्ठी हुई है। राजलदेसर में पांच, रतनगढ़ में 16, साहवा में एक व तारानगर में सात जने कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।
अफवाहों का दौर
स्थिति की भयावहता को देखते हुए रविवार को लोग घरों में रहे, लेकिन लॉकडाउन की अफवाह के चलते बैचेन हो गए। लेकिन जिस तरह से संक्रमण बढ़ रहा है उससे सरकार की ओर से कड़े कदम उठाए जाने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। इधर, छुट्टी का दिन होने से शनिवार की बजाए रविवार को रोडवेज बसें भी काफी कम चली। ऐसे में आवश्यक कामों से जाने वालों को करीब दो घंटे का इंतजार करना पड़ा। रोडवेज सूत्रों की माने तो सरकार की ओर से लॉकडाउन के अंदेशे के चलते अधिकतर गाडियों को रोक दिया गया। इसके अलावा परिचालकों को भी सीटों के मुताबिक यात्रियों को बैठाने के निर्देश दिए गए थे। पिछले साल की तरह इस बार जिले की सीमाओं पर आने-जाने में कोई रोक-टोक नहीं है। ऐसे में लोग अब सार्वजनिक परिवहन के बजाए स्वयं के निजी वाहनों से जिले में प्रवेश कर रहे हैं। अब तक कितने लोग दूसरे राज्यों से प्रवेश कर चुके हैं, इसका अभी तक कोई डाटा भी अधिकारियों के पास नहीं है। दूसरी तरफ कोरोना संक्रमित होने के बावजूद लोग सामाजिक बदनामी के चलते पहचान उजागर नहीं कर रहे हैं। पहचान नहीं होने के कारण सामान्य लोग उनके संपर्क में आकर संक्रमित हो रहे हैं।
सरदारशहर. तहसील क्षेत्र में रविवार को कोरोना की बरसात हो गई है। दूसरे दौर में संक्रमण का यह सबसे खतरनाक दिन साबित हुआ है। इस दिन एक साथ 47 मरीज कोरोना पॉजिटिव आए है। एक साथ इतने मरीज आने की सूचना मिलते ही शहर में दहशत का माहौल हो गया। यह पिछले कोरोना सीजन के टॉप स्कोर में एक है। एक साथ इतने पॉजिटिव आने से प्रशासन के भी हाथ पांव फूल गए है। बीसीएमएचओ डा.विकास सोनी ने बताया कि शहर में एक साथ 47 पॉजिटिव आए है। उनको होम आइसोलेशन का निर्देश दिया है। गंभीर को चूरू रैफर किया जाएगा।
रतनगढ़. क्षेत्र में शनिवार को लिए गए सैम्पल में रतनगढ़ शहर में 12, ग्रामीण में 8 व राजलेदसर में एक पॉजिटिव रिपोर्ट बताई गई। प्रशासन गाइड लाइन को लेकर मुस्तैद है। फिर भी बाजार में केवल एक पुलिस की गाड़ी ही घूमती नजर आई। मौहल्लों में लोगों का चबूतरों पर जमावड़ा देखने को मिल रहा है। केवल एक पुलिस बाइक पर दो जवान कभी कभार घूमते हैं और लोग उन्हें देखकर घरों में घुस जाते हैं तथा उनकी बाइक जाते ही वापस बाहर आ जाते हैं।
खतरा: बच्चे भी होने लगे हैं संक्रमित
राजलदेसर. शनिवार को सीएचसी में लिए गए 41 जनों के कोरोना सैंपल में से रविवार शाम आई रिपोर्ट में पांच जनों की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आई है । जिनमें तीन बच्चें शामिल है। चिकित्साधिकारी प्रभारी डॉ. संजय बुंदेला ने बताया कि रविवार को आई जांच रिपोर्ट में वार्ड 2 की एक महिला, गांव भरपालसर का एक 6 वर्षीय बच्चा, एक 8 वर्षीय बच्ची, एक 10 वर्षीय बच्चा, तथा एक महिला की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। उक्त चारों एक ही परिवार के हैं, डॉ. बुंदेला ने बताया कि सभी को होम आइसोलेट करवा दिया गया है व सं पर्क में आए लोगों की सोमवार को सैंपलिंग करवाई जाएगी।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned