scriptचक्की से आटा पिसवा कर आ रहे थे चचेरे भाई-बहन, रास्ते में युवती की मौत से गांव में मातम | Cousin brother and sister were returning after getting flour ground from the mill, the girl died on the way, causing mourning in the village | Patrika News
चुरू

चक्की से आटा पिसवा कर आ रहे थे चचेरे भाई-बहन, रास्ते में युवती की मौत से गांव में मातम

द्वारका का परिवार खेत में ढाणी बनाकर रहते है। दोनों चचेरे भाई बहन किशन व द्वारका बुचावास गांव में चक्की से आटा पिसवाकर अपनी ढाणी में जा रहे थे। रास्ते में हादसे में युवती की मौत हो गई।

चुरूJun 18, 2024 / 06:30 pm

Santosh Trivedi

churu road accident
तारानगर। तारानगर-बुचावास मार्ग पर बाइक सवार ने पैदल चल रही युवती व उसके चचेरे भाई को टक्कर मार दी। हादसे में युवती व बाइक सवार की मौत हो गई। वहीं युवती का भाई घायल हो गया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए। भालेरी थाने के एसआई भंवरलाल ने बताया कि बुचावास गांव निवासी चचेरे भाई बहन किशन (26) पुत्र गोविंदराम मेघवाल व द्वारका (19) पुत्री चिमनाराम मेघवाल रविवार रात करीब 8 बजे बुचावास गांव से अपनी ढाणी पैदल जा रहे थे।
वहीं तारानगर के वार्ड एक निवासी अमरसिंह मेघवाल व उसका लड़का प्रवीण (19) बाइक पर सवार होकर बुचावास से तारानगर की ओर आ रहे थे। बाइक अमरसिंह चला रहा था जबकि उसका पुत्र प्रवीण पीछे बैठा था। बुचावास से करीब 2 किलोमीटर दूर तारानगर मार्ग पर पीछे से आ रही बाइक ने सड़क पर पैदल चल रहे चचेरे भाई बहन के टक्कर मार दी, जिससे द्वारका व बाइक के पीछे बैठे प्रवीण की मौके पर ही मौत हो गई जबकि किशन घायल हो गया। दुर्घटना की सूचना मिलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई।
आसपास के ग्रामीणों ने द्वारका, किशन व प्रवीण को तारानगर उप जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने द्वारका व प्रवीण को मृत घोषित कर दिया, जबकि घायल किशन को भर्ती कर उसका उपचार शुरू किया। सूचना मिलने पर भालेरी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर क्षतिग्रस्त बाइक को जब्त कर लिया व मृतक द्वारका व प्रवीण के शव को तारानगर मोर्चरी में रखवाया। सोमवार सुबह तारानगर मोर्चरी में पहुंचकर दोनों मृतकों के शव का पोस्टमार्टम करवाकर उन्हें परिजनों को सौंप दिया। युवती द्वारका के चचेरे भाई पवन पुत्र पतराम मेघवाल की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।
दुर्घटना में युवती द्वारका की मौत से गांव में मातम छा गया। वहीं मृतक प्रवीण के घर मे भी शोक की लहर छा गई। ग्रामीणों ने बताया कि द्वारका का परिवार खेत में ढाणी बनाकर रहते है। दोनों चचेरे भाई बहन किशन व द्वारका बुचावास गांव में चक्की से आटा पिसवाकर अपनी ढाणी में जा रहे थे। उस दौरान यह हादसा हो गया। युवती द्वारका तारानगर कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष में अध्यनरत थी और अविवाहित थी। चिमनाराम के दो पुत्र एवं एक पुत्री थी। एक पुत्र द्वारका से बड़ा है दूसरा छोटा। चिमनाराम के परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर है।

Hindi News/ Churu / चक्की से आटा पिसवा कर आ रहे थे चचेरे भाई-बहन, रास्ते में युवती की मौत से गांव में मातम

ट्रेंडिंग वीडियो