श्मशान भूमि के रास्ते का विवाद, लाठियों से पीटकर इन्द्रसिंह की हत्या

आठ के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज, बुकनसर छोटा गांव की घटना

By: Rakesh gotam

Published: 25 Apr 2018, 09:51 PM IST

सरदारशहर.


गांव बुकनसर छोटा में मंगलवार को आधी रात श्मशान भूमि के रास्ते को लेकर दो पक्षों में हुई लाठी भाटा जंग में एक की मौत हो गई। मृतक के भाई ने आठ नामजद लोगों पर हत्या करने का मामला दर्ज कराया है। इधर घटना के बाद गांव में तनाव की स्थिति हो गई। इसके विरोध में गांव में सुबह आठ बजे शुरू हुआ प्रदर्शन अपराह्न साढ़े तीन बजे तक चला।


पुलिस ने बताया कि बुकनसर छोटा निवासी बजरंगसिंह कर्णावत ने दर्ज रिपोर्ट में बताया कि गांव में श्मशान भूमि है। इसके पास गिरवरसिंह व प्रतापसिंह का खेत है। जिसमें से रास्ता जाता है। उक्त लोग रास्ते को श्मशान भूमि में कायम करना चाहते हंै। ग्राम पंचायत ने श्मशान भूमि के चार दीवारी बनवाई थी। जिसको उक्त लोगों ने पांच-छह दिन पहले तोड़ दिया। जिसकी रिपोर्ट सरपंच ने पुलिस थाने में भी दी। कार्रवाई नहीं हुई तो इस बात को लेकर मंगलवार देर रात गांव के गिरवरसिंह, प्रतापसिंह, पवनसिंह, श्यामसिंह, गौरीशंकर, कन्हैयालाल, श्यामलाल, बाबूलाल लाठियों से लैस होकर गौरीशंकर की जीप में सवार होकर आए। वे श्मशान भूमि की दीवार तोड़कर रास्ता कायम करने का प्रयास कर रहे थे।

इस दौरान उसका भाई इन्द्रसिंह व परिवार के लोगों ने उनको मना किया तो उक्त लोगों ने लाठियों एवं ईंट आदि से हमला कर दिया। जिससे उसके भाई इन्द्रसिंह के गंभीर चोटे आई। घायल इन्द्रसिंह को राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया जहां पर चिकित्साकर्मियों ने प्राथमिक उपचार के बाद बीकानेर रैफर कर दिया। जिसने रास्ते में दम तोड़ दिया।

 

मोर्चरी के आगे धरने पर बैठे


परिजनों ने शव को राजकीय अस्पताल सरदारशहर की मोर्चरी में रखवाया। मृतक के परिजन आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर मोर्चरी के आगे धरने पर बैठ गए। सूचना पर उपखण्ड अधिकारी मूलचंद लूणिया, तहसीलदार बीरबलनाथ सिद्ध, डीएसपी वेदप्रकाश शर्मा पुलिस जाप्ते के साथ अस्पताल पहुंचे और लोगों से समझाईश की।

 

एकत्रित भीड़ ने किया प्रदर्शन


सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में गांव के लोग भी एकत्रित हो गए तथा हत्या के आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। वे मोर्चरी के आगे धरने पर बैठ गए और शव लेने से इनकार कर दिया। इस पर पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। इस पर तहसील के आला अधिकारियों ने कई बार परिजनों को समझाया लेकिन वे आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे।

 

पांच घंटे में दो आरोपित गिरफ्तार


घटना के विरोध में लोगों का आक्रोश बढ़ता देख पुलिस ने आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। पांच घंटे की मशक्कत के बाद गिरवरसिंह व श्यामलाल को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने शेष छह आरोपितों को शीघ्र ही गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। इसके बाद पुलिस ने मृतक का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया और परिजनों ने शव ले लिया।

 

एएसआई को दिया लाइन भेजने का आश्वासन


लोगों के विरोध के चलते अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिलसिंह गांव बुकनसर पहुंचे और उन्होंने घटना स्थल का मुआयना किया। इसके पश्चात राजकीय अस्पताल में परिजनों से मुलाकात की तथा आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने व लापरवाह एएसआई को लाइन में भेजने का आश्वासन दिया।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned