Video: बाजारों में उमड़ी भीड़, बढ़ा खतरे का संकेत

करीब 24 घंटे पहले ही ग्रीन जोन में आया चूरू सोमवार को जैसे सारे संयम और बंधन तोड़ देने को उतारू दिखा। निर्देशों और तय गाइडलाइन की उल्लंघना करते हुए बाजार खुले। सड़कों पर वाहनों की रेलम-पेल दिखाई देने लगी।

By: Madhusudan Sharma

Published: 05 May 2020, 12:20 PM IST

चूरू. करीब 24 घंटे पहले ही ग्रीन जोन में आया चूरू सोमवार को जैसे सारे संयम और बंधन तोड़ देने को उतारू दिखा। निर्देशों और तय गाइडलाइन की उल्लंघना करते हुए बाजार खुले। सड़कों पर वाहनों की रेलम-पेल दिखाई देने लगी। दुकानों पर लोग टूटते दिखे। बैंकों में भीड़ उमड़ पड़ी। कोतवाल और पुलिस के अफसर दोपहर भर मशक्कत करते रहे। शाम को खुद कलक्टर संदेश नायक और एसपी तेजस्विनी गौतम लाव-लश्कर के साथ बाजार में घूमे और लोगों को आगाह करने के साथही चेतावनी भी दी कि अगर वे गाइडलाइन की अवहेलना यूं ही करते रहे, तो दुकानों को सीज करने में भी प्रशासन देर नहीं लगाएगा।


45 मिनट तक आंखों से देखा हाल
जिला कलक्टर संदेश नायक एवं एसपी तेजस्वनी गौतम सोमवार शाम करीब साढ़े पांच बजे जिला मुख्यालय स्थित मुख्य बाजार में करीब पौन घंटे तक पैदल घूमे और दुकानदारों, नागरिकों को निषेधाज्ञा और एडवायजरी की पालना के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने गढ़ चौराहा, मुख्य बाजार, सफेद घंटाघर, सब्जी मंडी, सुभाष चौक, नई सड़क क्षेत्र का भ्रमण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने दुकानदारों को ताकीद की कि वे दुकान खोलने के संबंध में जिला प्रशासन की ओर से निधारित समयबद्धता और एडवायजरी की पालना करें तथा बिना मास्क लगाए आने वाले ग्राहक को सामान नहीं दें। उन्होंने दुकानदारों से कहा कि इस दौरान किसी भी प्रकार से निषेधाज्ञा का उल्लंघन पाया गया तो दुकानें सीज कर दी जाएंगी। कलक्टर एवं एसपी ने बिना मास्क दिखाई दिए लोगों को भी फ टकार भी लगाई और कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही महंगी साबित हो सकती है। घरों के दरवाजों पर खड़े नागरिकों से भी जिला कलक्टर एवं एसपी ने कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतें। ग्रीन जोन में आने का अर्थ यह नहीं है कि सारी आशंकाएं खत्म हो गई हैं। जिला कलक्टर ने कहा कि 20 फ ीट से कम सड़क वाले बाजारों में एक तरफ की दुकानें ही खोली जाएंगी। बाजार निरीक्षण के दौरान एएसपी योगेंद्र फ ौजदार, एसडीएम अवि गर्ग, सहायक निदेशक (जनसंपर्क) कुमार अजय, डीवाईएसपी सुखविंद्रपाल सिंह, नरेश गैरा, कमिश्नर द्वारका प्रसाद सहित क्यूआरटी जवान, लेडी पुलिस यूनिट के लोग भी मौजूद थे। जिला प्रशासन ने फिलहाल तय किया है कि रेड जोन में आने वाले महानगर मसलन मुंबई, पुणे, दिल्ली के सात इलाके, अहमदाबाद, सूरत जैसे शहरों से चूरू में किसी भी प्रवासी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सिर्फ ऑरेंज और ग्रीन जोन के ही लोग चूरू आ सकेंगे। जानकारी के मुताबिक, चूरू आने वाले 319 प्रवासियों को सोमवार तक ई पास जारी कर दिए गए हैं। अब तक 34420 कुल आवेदन मिले हैं। 193 को बॉर्डर एग्जिट की अनुमति दी गई है। अब भी 33904 आवेदन लंबित हैं, जिनमें अधिकांश के बारे में बताया जा रहा है कि वे रेड जोन से चूरू आने से संबंधित हैं। कलक्टर संदेश नायक के मुताबिक, आवेदन को स्वीकृति प्रदान करने से पहले इस बात का ध्यान रखा जा रहा है कि आने वाले रेड जोन से न हों और वे अपने वाहन से आने की परमिशन मांग रहे हों। ऐसे लोगों को प्राथमिकता दी जा रही है। जानकारी के मुताबिक, मंगलवार से मिठाई और नाई की दुकानें भी खुलेंगी।


15 सैंपल लिए, 109 निगेटिव
डीबीएच में आज 15 लोगों के कोविड-19 टेस्ट के लिए सैंपल लिए गए। इससे पहले दो दिन पहले चूरू मेडिकल कॉलेज भेजे गए 109 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव मिली। चार रिपीट सैंपल की सलाह दी गई है।
सरदारशहर. लंबे समय बाद सोमवार को बाजारों में रौनक देखी गई। दुकानें खुलने के कारण लोग खरीददारी करने के लिए घरों से निकले और आवश्यकता के अनुसार खरीददारी की। लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ाने के बाद सोमवार को उपखण्ड अधिकारी रीना छिंपा ने स्थानीय व्यापारियों की बैठक ली तथा ढील के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया तथा पालना करने का निर्देश दिया गया। बैठक में निर्देश दिया गया कि सोमवार, बुधवार, शुक्रवार को उतर दिशा (दक्षिण मुखी) एवं पूर्व दिशा(पश्चिम मुखी ) की दुकानें खुलेगी। वही मंगलवार, गुरुवार, शनिवार को दक्षिण दिशा स्थित (उतर मुखी) एवं पश्चिम दिशा स्थित (पूर्व मुखी ) दुकानें सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुलेंगी। पान, तम्बाकू, सिगरेट, चाय, मिठाई की दुकानें बंद रहेंगी। एसडीएम ने बताया कि इस दौरान सोशल डिस्टेंस का पालना करने के साथ मास्क पहना जरूरी है। एडवाइजरी का पालना नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर तहसीलदार सुशील सैनी, बीडीओ संतकुमार मीणा, अति.बीडीओ दुर्गाराम पारीक, व्यापार मण्डल के अध्यक्ष शिवभगवान सैनी, सचिव अंजनी जेसनसरिया, बनवारीलाल जांगिड़, ओमप्रकाश पारीक आदि उपस्थित थे।


46 लोगों को किया डिस्चार्ज
लाडनूं. कोरोना संक्रमण के चलते नगरवासियों के लिए राहत की खबर सामने आई है। बीसीएमओ मूलचंद चौधरी ने बताया कि तापडिय़ा आईटीआई में क्वारेंटाइन किए हुए 46 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया। वहीं शुरूआत में मिले पॉजिटिव जाकीर के परिवार सदस्यों एवं कारीगरों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद घर भेज दिया गया।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned