घर-घर मंगल घट की स्थापना

नवरात्र को लेकर तैयारियां कर ली गई है। शनिवार को घरों में नवरात्र में सर्वार्थ सिद्धि योग में घर-घर घट की स्थापना की गई। घट स्थापना के साथ ही नौ देवियों की पूजा भी शुरू कर दी गई है।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 17 Oct 2020, 09:46 AM IST

चूरू. नवरात्र को लेकर तैयारियां कर ली गई है। शनिवार को घरों में नवरात्र में सर्वार्थ सिद्धि योग में घर-घर घट की स्थापना की गई। घट स्थापना के साथ ही नौ देवियों की पूजा भी शुरू कर दी गई है। इस बार नवरात्र में तिथियों की घट-बढ़ होने से 25 अक्टूबर को दशहरा मनाया जाएगा। पं.देवकीनंदन माटोलिया ने बताया कि नवरात्र में ग्रह-नक्षत्रों की शुभ स्थिति के चलते हर दिन शुभ योग बन रहे हैं। माना जाता है कि इन नौ दिनों के दौरान की गई खरीदारी से समृद्धि और सुख बढ़ता है। आमतौर पर नवरात्र में प्रॉपर्टी और वाहनों की खरीदी-बिक्री शुभ मानी जाती है। नवरात्र में बन रहे शुभ योगों में आभूषण, कपड़े, वाहन बर्तन और इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं की खरीदारी की जा सकती है।
चार सर्वार्थ सिद्धि, एक त्रिपुष्कर और चार रवियोग
पं. देवकीनंदन माटोलिया ने बताया कि नवरात्र में तिथि, वार और नक्षत्रों के संयोग से लगभग हर दिन खरीदारी के लिए शुभ मुहूर्त बन रहा है। इन दिनों में 4 सर्वार्थ सिद्धि, 1 त्रिपुष्कर और 4 रवियोग बन रहे हैं। सौभाग्य, धृति और आनंद योग भी रहेंगे। प्रॉपर्टी में निवेश और खरीदी-बिक्री के लिए 22 अक्टूबर का दिन अच्छा रहेगा। वहीं, 19, 25 और 26 अक्टूबर को वाहन खरीदी का विशेष मुहूर्त है।
इस प्रकार रहेंगे शुभ योग
17 अक्टूबर, शनिवार - सर्वार्थ सिद्धि योग
18 अक्टूबर, रविवार - त्रिपुष्कर और सर्वार्थ सिद्धि योग
19 अक्टूबर, सोमवार - सर्वार्थ सिद्धि योग, रवियोग
20 अक्टूबर, मंगलवार - सौभाग्य और शोभन योग
21 अक्टूबर, बुधवार - रवियोग
22 अक्टूबर, गुरुवार - सुकर्मा और प्रजापति योग (विशेष मुहूर्त - संपत्ति में निवेश और खरीदी-बिक्री)
23 अक्टूबर, शुक्रवार - धृति और आनंद योग
24 अक्टूबर, शनिवार - सर्वार्थसिद्धि योग
25 अक्टूबर, रविवार - रवियोग (विशेष मुहूर्त - वाहन खरीद)
26 अक्टूबर, सोमवार - रवियोग (विशेष मुहूर्त - वाहन खरीद)

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned