समझाइस से निपटाया राजस्व वाद

राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार शिविर

By: Rakesh gotam

Published: 07 Jun 2018, 11:58 AM IST

सरदारशहर.

 

ग्राम पंचायत मुख्यालय जैतसीसर में बुधवार को राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार शिविर लगा। शिविर में 15 विभागों के अधिकारियों ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर निस्तारण किया। इंद्राज बनाम राधाकिशन के बीच बंटवारे को लेकर विचाराधीन राजस्व वाद में एसडीएम मूलचंद लूणिया व सरपंच श्यामलाल शर्मा ने समझाइश की। समझाइश के बाद दोनों भाइयों ने सहमत होकर राजीनामा कर लिया। इस मौके पर तहसीलदार बीरबलनाथ सिद्ध, बीडीओ संतकुमार मीणा आदि थे।
बीदासर. दूंकर ग्राम पंचायत के अटल सेवा केंद्र में लगे न्याय आपके द्वार शिविर में अनेक मामलों का निस्तारण किया गया। इस दौरान ग्रामीणों ने आवासीय पट्टे जारी नहीं करने पर रोष व्यक्त किया। रामदेव जाट, श्रवण राम जाट, शिवकरण, हड़मानाराम, भंवरलाल, तखाराम, हरफूल ने कहा कि अकृषि भूमि के पास पिछले ६० वर्ष से रह रहे ४१० परिवारों को अब तक पट्टे नहीं मिले हैं। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री व कलक्टर को ज्ञापन भेजने के बावजूद अब तक कार्रवाई नहीं हुई है। थे।

 

योजनाओं को तत्परता से लागू करें प्रशासन
चूरूा. कलक्ट्रेट स्थित अटल सेवा केंद्र में बुधवार को सांसद राहुल कस्वा ने जनसुनवाई की। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों से कहा कि श्रमिकों की समस्याओं का त्वरित समाधान करें। सांसद ने बीडीओ को श्रमिक योजनाओं का क्रियान्वयन प्रभावी रूप से करने के निर्देश दिए। इस मौके पर आए लोगों ने सांसद को विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाकर समाधान करवाने की मांग की।

 

चौपाल में दी बैंक योजनाओं की जानकारी
रतनगढ़. बड़ौदा राजस्थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय चूरू की ओर से मनाए जा रहे भानूदा की बैंक शाखा में चौपाल का आयोजन किया गया। ं क्षेत्रीय प्रबंधक मणिलाल जाटव, वित्तीय साक्षरता सलाहकार वी एस नेहरा, विक्रांत भंडारी, विजयपाल भुवाल व शाखा प्रबंधक भंवरलाल शर्मा ने ग्रामीणों को बैंक,सरकारी विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। इस मौके पर शंकरलाल भुवाल, कल्याणसिंह बीका, सांवरमल भांभू, गजानंद शर्मा, मोहनदान चारण व नारायणराम पंवार थे।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned