कंपनियों की मिलीभगत से सरकार कर रही किसानों का शोषण

Rakesh gotam

Publish: Feb, 15 2018 10:48:46 PM (IST)

Churu, Rajasthan, India
कंपनियों की मिलीभगत से सरकार कर रही किसानों का शोषण

अखिल भारतीय किसान सभा तहसील कमेटी चूरू की ओर से फसल बीमा क्लेम की मांग को लेकर कलक्ट्रेट के आगे चल रहे धरने के 23वें दिन गुरुवार को आमसभा हुई

चूरू.

अखिल भारतीय किसान सभा तहसील कमेटी चूरू की ओर से फसल बीमा क्लेम की मांग को लेकर कलक्ट्रेट के आगे चल रहे धरने के 23वें दिन गुरुवार को आमसभा हुई। किसानों ने सरकार विरोधी नारे लगाकर आक्रोश जताया। सभा को संबोधित करते हुए किसान सभा के निर्मल प्रजापत ने कहा कि सरकार बीमा कंपनियों के साथ मिलीभगत कर किसानों का शोषण कर रही है। उमराव सिंह ने कहा कि चूरू तहसील क्षेत्र के किसानों का खरीफ फसल का बीमा क्लेम करीब 21 करोड़ रुपए बनता है। मगर सरकार महज ढाईकरोड़ रुपए देकर किसानों का शोषण कर रही है। ये किसी भी कीमत पर नहीं होने देंगे।

 

उपाध्यक्ष सिंह पूनिया ने कहा कि बजट में कर्ज माफी के नाम पर किसानों से छलावा कर चुकी सरकार को किसान एकजुटता के दम पर पूरा बीमा क्लेम देने के लिए मजबूर करके रहेंगे। रणसिंह भामू, दीपाराम प्रजापत, घनश्याम पांडिया, दुर्गाराम, एडवोकेट इंद्राज सिंह, माइचंद बागोरिया आदि ने कहा कि जब तक सरकार चूरू तहसील के किसानों को पूरा क्लेम नहीं देगी। तब तक धरना जारी रहेगा। वक्ताओं ने आगामी 22 फरवरी को जयपुर में होने वाले धरना-प्रदर्शन व रैली में अधिकाधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। सभा के दौरान जयपुर रैली के पोस्टर का विमोचन भी किया गया। धरने की अध्यक्षता खिराजराम भामू, किशनङ्क्षसह घंटेल, गंगाराम सैनी, श्योकरण घिंटाला, हरलाल खरींटा व शुभकरण ने की। बाद में सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए प्रतिनिधिमंडल ने कलक्टर को सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा। इस दौरान पुलिस जाप्ता तैनात रहा। धरने पर चूरू तहसील के अनेक गांवों से आए किसान मौजूद थे।

 

जयपुर पहुंचने का आह्वान

 

सादुलपुर. विधानसभा के घेराव को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा तहसील कमेटी के कार्यकर्ताओं का जनसंपर्क अभियान गुरुवार को भी जारी रहा। किसान नेता भगतसिंह ने कहा कि अभियान को लेकर 22 फरवरी को किसानों से जयपुर पहुंचने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जयपुर में आयोजित विधानसभा का घेराव कर सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी तथा बेरोजगारों, मजदूरों, किसानों तथा संविदाकर्मियों के साथ किए गए विश्वासघात का बदला लेंगे।

 

इस अवसर पर रामसिंह, बनवारीलाल, माईचंद बागोरिया, दयानंद जाखड़, बिहारीलाल पूनिया, निहालसिंह पूनिया, बनवारीलाल बैनीवाल, सूरताराम, चंद्रपाल राहड़ आदि ने किसानों से अधिक से अधिक संख्या में जयपुर पहुंचने की अपील की है। गांव कानावसी, खारिया गोदारान, कालोड़ी, देवीपुरा, रावतसर कुंजला, रबूड़ी आदि गांवों में जनसंपर्क कर जयपुर पहुंचने के लिए वाहनों की व्यवस्था की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned