चूरू में टकटकी,सादुलपुर में जीत लिया गढ़

नगरपरिषद के नए सभापति को लेकर लोगों का मंगलवार को इंतजार खत्म हो गया। चुनाव को लेकर दोनों ही पार्टियों के समर्थकों का नगरपरिषद कार्यालय के बाहर सुबह से जमावड़ा शुरू हो गया।

By: Madhusudan Sharma

Published: 27 Nov 2019, 03:25 PM IST

चूरू. नगरपरिषद के नए सभापति को लेकर लोगों का मंगलवार को इंतजार खत्म हो गया। चुनाव को लेकर दोनों ही पार्टियों के समर्थकों का नगरपरिषद कार्यालय के बाहर सुबह से जमावड़ा शुरू हो गया। चुनाव परिणाम घोषणा के बाद बाड़ेबंदी में शामिल दोनों ही पार्टियों के विजेता प्रत्याशी एक साथ पहली बार नजर आए। मतदान के लिए कांग्रेस समर्थक प्रत्याशियों को बस से लाया गया। नीचे उतरने के बाद सभी ने विजयी मुद्रा बनाकर समर्थकों का अभिवादन किया। विजेताओं में दो महिलाओं की गोद में बच्चे भी थे। वोट डालने से पूर्व कार्यकर्ताओं ने जिन्दाबाद के नारे भी लगाए। दूसरी तरफ भाजपा पदाधिकारी भी पार्टी के विजेता प्रत्याशियों को कारों में लेकर पहुंचे। हालांकि परिणाम को लेकर कांग्रेस समर्थक आश्वस्त थे, सिर्फ अधिकारिक घोषणा का इंतजार था। अधिकारिक घोषणा के बाद समर्थक खुशी से झूम गए। बाद में कांग्रेस पदाधिकारी समर्थकों लेकर बस से रवाना हो गए। परिषद कार्यालय के बाहर जमकर आतिशबाजी भी की गई। कानून व्यवस्था को लेकर एएसपी योगेन्द्र फौजदार के नेतृत्व में कार्यालय के बाहर जाप्ता तैनात रहा। कुछ देर बाद में एसपी तेजस्वनी गौतम भी पहुंची।


नव नियुक्त सभापति को बधाई
जीत की घोषणा के बाद शहर की नई महिला सभापति को पायल को बधाई देने वालों का तांता लग गया।नई सभापति ने सभी का अभिवादन किया, बाद में अन्य कांग्रेस पार्षदों के साथ बस में बैठकर रवाना हो गई।लौटते वक्त कांग्रेस पार्षदों ने विजयी मुद्रा बनाकर एकजुटता दिखाई।

कांग्रेस ने जीता भाजपा का गढ़
सादुलपुर. नगरपालिका अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस ने बाजी मार ली है। कांग्रेस प्रत्याशी रजिया बानो 22 मत प्राप्त कर भाजपा लता बैरासरिया को चार मतों से पराजित कर दिया। लता बैरासरिया को 18 मत मिले। जबकि बसपा प्रत्याशी ललिता मरोदिया तथा निर्दलीय प्रत्याशी अफराज बानो तथा दामिनी स्वामी को एक भी मत नहीं मिला। शहर के कुल ४० वार्डों से निर्वाचित भाजपा और बसपा में समझौता हो गया। जिसमें अध्यक्ष पद के लिए भाजपा को तथा उपाध्यक्ष पद के लिए बसपा को वोट देने का निर्णय किया गया। कांग्रेस के कुल 15 प्रत्याशी विजयी हुए तथा चार भाजपा प्रत्याशी कांग्रेस में शामिल होने पर प्रत्याशियों की संख्या 19 हो गई, तीन निर्दलीय प्रत्याशियों ने कांग्रेस के समर्थन में वोट डाला। जबकि बसपा के सात प्रत्याशी विजयी तथा तीन निर्दलीय प्रत्याशी समर्थन में रहे। कुल दस प्रत्याशी अंतिम समय तक संगठित रहे। जबकि भाजपा के 11 विजयी हुए तथा चार प्रत्याशी कांग्रेस में शामिल हो गए। जिसके बाद भाजपा के साथ कुल सात सहित एक निर्दलीय प्रत्याशी सहित आठ सदस्य रहे। दोपहर बारह बजे लगभग बसपा और भाजपा प्रत्याशी एक साथ 18 प्रत्याशी नगरपालिका पहुंचे तथा मतदान किया। दोपहर पौने एक बजे लगभग कुल 21 प्रत्याशी कांग्रेस के एक साथ नगरपालिका पहुंचे। जबकि रजिया बनो पहले से ही नगरपालिका में मौजूद थी तथा एक साथ 22 प्रत्याशी ने मतदान किया। सुबह नौ बजे ही लोगों की भीड़ जमा होने लगी थी तथा दोपहर बाद तक भीड़ जारी रही। चुनाव के बाद जैसे ही कांग्रेस की रजिया बानो की जीत की घोषणा की गई। तो समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ तथा जमकर आतिशबाजी की एवं रंग-गुलाल लगाकर एक-दूसरे को बधाई दी तथा मिठाई वितरण की। जुलूस के रूप में विधायक डा.कृष्णा पूनिया के निवास स्थान पर पहुंचे।


10 साल बाद कांग्रेस का बोर्ड
दस वर्ष बाद कांग्रेस का बोर्ड बना है। दस साल पूर्व वर्श 2004 से 2009 तक कांग्रेस की ताजबीबी अध्यक्ष पद पर रही तथा अल्प संख्यक समुदाय की चेयरमैन निर्वाचित होने वाली रजिया बानो दूसरी नगरपालिका अध्यक्ष बनी है। हालांकि 1973 में तीन सप्ताह के लिए निर्वाचित नगरपालिका अध्यक्ष रजिया बनो के ससुर हासम खां भी चेयरमैन रहे।

होगा विकास, बदलेगी व्यवस्था
विधायक डा.कृष्णा पूनिया ने कांग्रेस की जीत जनता के विश्वास की जीत है तथा आमजन की जीत है। पूनिया ने कहा कि नगरपालिका चुनाव में भाजपा और बसपा एक हो गए तथा दोनों की नीति और सोच एक है। कांग्रेस के पार्षदों ने दोनों को करारा जवाब दिया है। आने वाले पांच साल शहर के सर्वांगीण विकास का परिचायक होंगे।

पहली बार मीडिया को रखा दूर
चुनाव अन्तर्गत पुलिस प्रषासन की ओर से कड़ी पुलिस सुरक्षा व्यवस्था भी की गई थी। प्रशासन की ओर से चालीस निर्वाचित पार्षदों की लिस्ट जारी की गई थी। जिसके अलावा अन्य तथा मीडिया को भी नगरपालिका में प्रवेश नहीं करने दिया गया। यह पहला मौका था, जब प्रशासन ने मीडिया को अनुमति नहीं दी।

गले मिलकर दी बधाई
नवनिर्वाचित पालिकाध्यक्ष रजिया बानो अपने पति नियाज मोहम्मद के गले मिलकर एवं माल्यार्पण कर जीत की बधाई दी। इसके अलावा द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच वीरेन्द्रसिंह पूनिया, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सतीष गागड़वास, नगर कांग्रेस अध्यक्ष पवन सैनी, करतार सिंह टांडी, लाल मोहम्मद, जाफर नारनौली, सीताराम प्रजापत, सत्यपाल पांडिया, ष्यामलाल सोनी, मुस्ताक प्रधान, कयूम गहलोत, देवेन्द्र पूनिया सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने पालिकाध्यक्ष को बधाई देकर मिठाई वितरण की।


धनबल के सहारे गए निर्दलीय
चूरू. सभापति के निर्वाचन बाद विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि मुस्लिम मतों के धु्रवीकरण से भाजपा बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाई है। उन्होंने निर्दलीयों के कांग्रेस के समर्थन में जाने पर कहा कि कांग्रेस में धनबल के प्रयोग के चलते निर्दलीय उनके साथ चले गए। राठौड़ ने नए बोर्ड को बधाई देते हुए एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाने की बात कही। राठौड़ ने कहा कि हार एक कारण ये रहा है कि वार्डों का असंतुलित परिसीमन किया गया है। जिससे भाजपा को नुकसान उठाना पड़ा।

धनबल नहीं प्यार से आए निर्दलीय
चूरू.सभापति का चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस की कमान संभाले नेता रफीक मंडेलिया ने कहा कि निर्दलीय पार्षद धनबल से नहीं बल्की कांग्रेस पार्टी से मन मिलने पर उनके पास आए हंै। विधायक राठौड़ की ऐसे ही आरोप लगाने की आदत है। २८ नवंबर को पद भार ग्रहण करने के बाद शहर के विकास कार्यों की पुरानी फाइलों को खंगाला जाएगा और प्राथमिकता से काम करेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता भाजपा से ऊब चुकी है। इसी का परिणाम है कि जनता ने पार्टी को स्पष्ट बहुमत दिया है।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned