फागोत्सव में गूंजी धमाल व लोकगीतों की स्वर लहरियां

Piyush Sharma

Publish: Mar, 17 2019 08:06:42 PM (IST)

Churu, Churu, Rajasthan, India

चूरू. फिजां में गूंजती धमाल और राजस्थानी लोकगीतों की स्वर लहरियां, ढफ की थाप पर थिरकते रसिए और दर्शकों से भरा शहर का मुख्य बाजार।
शहर के सफेद घंटाघर पर शनिवार शाम को साकार संस्थान चूरू की ओर से आयोजित फागोत्सव २०१९ में कुछ ऐसा ही माहौल रहा। लगातार दूसरे वर्ष हुए इस आयोजन में फतेहपुर शेखावाटी के लोक कलाकार गिरीश भोजक एंड पार्टी के कलाकारों ने आमजन को फाल्गुनी गीतों आनंदित किया। गायक कलाकार सांवर मल कत्थक व राकेश दाधीच ने राजस्थानी लोकगीतों की प्रस्तुतियां देकर दर्शकों की दाद पाई।

मुनीमजी की ढाणी के कलाकारों ने चूरू के चंदन शर्मा के नेतृत्व में ढफ नृत्य की प्रस्तुति दी। लोक कलाकार नोगा पंडित ने नगारी वादन से दर्शकों को थिरकने पर मजबूर किया। सुरेश राठी फर्म के सौजन्य से हुए फागोत्सव में रमाकांत ओझा की स्मृति में लोक कलाकार पं. महेश चोटिया को प्रशस्ति पत्र, शॉल-श्रीफल व नकद राशि भेंट कर सम्मानित किया। आयोजन समिति के जगदीश सर्राफ ने बताया कि टीसी सर्राफ के मुख्य आतिथ्य में हुए आयोजन की अध्यक्षता सभापति विजय शर्मा ने की।

विशिष्ट अतिथि संस्थान के संरक्षक हनुमान कोठारी, नगर परिषद में नेता प्रतिपक्ष मो. हुसैन निर्बाण, गंगानगर डीवाईएसपी इस्माइल खान, समाजसेवी पवन जालान नागपुर, राधेश्याम चोटिया, कांग्रेस नेता रियाजत अली खान, जमील चौहान, भाजपा नेता हुसैन सैयद आदि थे। संस्थान के हनुमान आदित्य, शंकर महर्षि, राजेंद्र चौबे, संजय सोनी, कल्पेश सर्राफ, अतुल पारख, सुशील सणखत, कौशल दाधीच, संजय दाधीच, पुरुषोत्तम पीपलवा, पीर साहब तैयब अली व महेश गौड़ आदि ने अतिथियों व कलाकारों का स्वागत किया। संचालन उमेश दाधीच ने किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned