थोड़ी देर हो जाती तो आरोपियों को पकडऩा मुश्किल

मण्णपुरम गोल्ड फाइनेंस में लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हुए आरोपित यदि पंजाब सीमा में प्रवेश कर जाते तो उनको पकड़ा मुश्किल हो जाता।

By: Madhusudan Sharma

Published: 16 Jun 2021, 11:45 AM IST

चूरू. मण्णपुरम गोल्ड फाइनेंस में लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हुए आरोपित यदि पंजाब सीमा में प्रवेश कर जाते तो उनको पकड़ा मुश्किल हो जाता। क्योंकि जीपीएस के आधार पर चूरू पुलिस आरोपियों के पीछे थी और वारदात के बाद एसपी टोगस हरियाणा राज्य के उच्चाधिकारियों से लगातार संपर्क बनाए हुए थे। पुलिस को पता चला कि बदमाश हिसार से कुछ दूर आगे सिरसला चौक हैं। इधर, पुलिस की नाकाबंदी को देखते हुए रणजीत व अमजद पुलिस की लोकेशन देखने के लिए कार से बाहर निकले। कार को बदमाशों ने कार को फार्म हाउस में घुसा दिया। लोगों के पूछने पर बताया कि उन्होंने कार को फाइनेंस पर लिया हुआ है। किस्त नहीं चुकाने से पुलिस उनके पीछे है। इधर, लोकेशन के आधार पर पुलिस फार्म हाउस पहुंची तो भीड़ हो गई। मौका पाकर रणजीत व अमजद भीड़ का फायदा उठाते हुए भाग गए। वहीं पुलिस ने शादाब व हनीस ठाकुर को दबोच लिया। बताया जा रहा है कि पकड़े जाने से पहले शादाब की पिस्टल लोडेड थी व हाथ ट्रिगर पर ही था। लेकिन इससे पहले फायर की कोशिश करता पुलिस ने उसे दबोच लिया।
सीसीटीवी कैमरों की कमी खली
वारदात के बाद में एक बार फिर से सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सीसीटीवी कैमरों की पूरी तरह से कमी खली। काफी समय से अभय कमांड सेंटर से पूरे शहर में निगरानी के लिए सीसीटीवी लगाए जाने प्रस्तावित किए गए थे। लेकिन अभी तक कैमरे लगाने का काम कछुआ गति से चल रहा है। घटना के बाद पुलिस को आस-पास की दुकानों में कैमरे लगे नहीं मिले। गनीमत यह रही कि पास स्थित एक मॉल में सीसीटीवी लगा हुआ था। जहां से पुलिस को फुटेज मिल सके।
कार्रवाई में ये थे शामिल
पुलिस अधीक्षक नारायण टोगस के नेतृत्व में हुई कार्रवाई में एएसपी योगेन्द्र फौजदार, सीओ सिटी ममता सारस्वत, सीओ ओमप्रकाश गोदारा, सीओ हिमांशु शर्मा, सादुलपुर थानाधिकारी गुरुभूपेन्द्र सिंह, सदर थानाधिकारी अमित कुमार, डीएसटी प्रभारी राकेश सांखला व एएसआई जोगेन्द्र सिंह, रतननगर थानाधिकारी सुरेन्द्र राणा, सिद्धमुख थानाधिकारी कृष्ण कुमार, कोतवाली थाने के एएसआई सुरेश कुमार, साइबर सैल प्रभारी भागीरथ मीणा आदि पुलिसकर्मी शामिल रहे।
पहले हो चुकी हैं घटना
सिधमुख में लूटे थे 33 लाख 77 हजार
जिले के सिधमुख में कार में सवार होकर आए करीब आधा दर्जन नकाबपोशों ने दिनदहाड़े आईसीआईसीआई बैंक डकैती को अंजाम दिया। ग्राहक व स्टाफ कर्मियों को बंधक बनाकर करीब 33 लाख 77 हजार लूटकर ले गए। स्टॉफ कर्मियों व ग्राहकों के मोबाइल छिनने के बाद लौटते वक्त दशहत फैलाने के लिए हवाई फायरिंग की। घेराबंदी कर तीन को तांबा खेडी-हासियावास के बीच से दबोचा।
नाकारासर में मारी थी बैंक मैनेजर को गोली
रतननगर थाना इलाके के नाकारासर में कार सवार होकर आए तीन बदमाश दिनदहाड़े बैंक में घुस गए थे। बैंक में घुसते ही वहां मौजूद मैनेजर को गोली मार दी, जो उसके पेट में लगी। घटना की सूचना लगने पर पुलिस ने पूरे जिले में नाकाबंदी कराई।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned