scriptIllegal liquor factory in Churu | चूरू जिले में यहां चल रही थी अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री | Patrika News

चूरू जिले में यहां चल रही थी अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री

शराब बनाकर सरदारशहर, चूरू के साथ कैलनिया, पल्लू इलाके में सप्लाई की जा रही थी।

चुरू

Published: January 10, 2022 08:17:11 pm

चूरू. आबकारी विभाग ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए पिचकराईताल में अवैध शराब की फैक्ट्री पकड़ी है।यहां स्प्रिट से शराब बनाकर सरदारशहर, चूरू के साथ कैलनिया, पल्लू इलाके में सप्लाई की जा रही थी।
चूरू जिले में यहां चल रही थी अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री
चूरू जिले में यहां चल रही थी अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री
जिला आबकारी अधिकारी सजीव पटावरी ने बताया कि आबकारी निरीक्षक वृत चूरू विकास कुमार को मुखबिर के जरिए सूचना मिली थी कि ओम सिंह राजपूत निवासी पिचकराई ताल पुलिस थाना भानीपुरा अपने कब्जेशुदा मकान में अवैध शराब का निमार्ण कर रहा है।तथा भण्डारण, विक्रय कर रहा है। इस पर आबकारी निरीक्षक वृत चूरू विकास कुमार के नेतृत्व में प्रशिक्षु आबकारी निरीक्षक पवन कुमार रैगर व खुशबू शर्मा, प्रहराधिकारी आनि दल विनोद कुमार व भानीपुरा पुलिस थाने के स्टाफ के साथ संयुक्त रूप से धावा बोला।
लेकिन इस दौरान आरोपी ओम सिंह भागने में सफल हो गया। मकान की तलाशी ली गई तो देशी मदिरा 30 पेटी प्लास्टिक पव्वे खाली 26 0 पव्वे, 4050 ढक्कन, एक पैकिंग मशीन, खाली गत्ते ( बारदाना ) 75, एक प्लास्टिक ड्रम 200 लीटर तथा करीब 5 लीटर स्प्रीट बरामद हुई। साथ ही शराब बनाने में प्रयुक्त मशीन खाली बारदाना बुदार प्लास्टिक ड्रम, पीपी सील ढक्कन भी बरामद हुई। आबकारी विभाग की गत एक वर्ष में तीसरी फैक्ट्री पकड़ी है।
किसान संघ का प्रदर्शन आज
सरदारशहर. लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य को लेकर भारतीय किसान संघ की ओर से मंगलवार को तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जाएगा। संघ के अध्यक्ष मामराज तर्ड ने बताया कि को लेकर गांधी चौक पर प्रदर्शन किया जाएगा। इससे पहले रेलवे स्टेशन से मुख्य रास्तों से होती हुई रैली गांधी चौक पहुंचेगी। जहां पर प्रदर्शन के बाद धरना दिया जाएगा। आंदोलन को लेकर किसान संघ के भानीपुरा अध्यक्ष शैतान गुर्जर, तहसील मंत्री रामलाल पुरोहित आदि ने उपखण्ड अधिकारी को जानकारी दी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.