पूरी बनने से पहले ही उखड़ गई नवनिर्मित सड़क

डालमाण से गलगट्टी मार्ग

By: Rakesh gotam

Published: 07 Jun 2018, 10:05 PM IST

सरदारशहर.

 

डालमाण से गलगट्टी वाया मेहरी के बीच 10 किमी पुरानी सड़क के रिकार्पेट के लिए 78 लाख रुपए की स्वीकृति जारी हुई तो ग्रामीण झूम उठे लेकिन जब निर्माण हुआ तो उनकी खुशी निराशा में बदल गई। क्योंकि सड़क उखड़ गई जिसका ग्रामीणों को मलाल है। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क का निर्माण नियमों के अनुसार नहीं कर सरकारी धन के चूना लगाया जा रहा है। इस पर रोक लगनी चाहिए तथा सड़क का निर्माण नियमों के अनुसार होना चाहिए। मेहरी के एडवोकेट राजेन्द्रसिंह राजपुरोहित ने बताया कि मेहरी से डालमाण के बीच 4 किमी रोड़ तैयार हो गई है। जिसके वर्कऑर्डर के अनुसार 500 मीटर सड़क पर डब्ल्ूयू बीएम बड़ी गिल्टी डाली जानी थी लेकिन नहीं डाली गई। इसी प्रकार 1500 मीटर सड़क पर वापसी डाली जानी थी जो नहीं डाली गई तथा रेत व बरडा डालकर लीपापोती की गई। उन्होंने बताया कि सड़क के दोनों तरफ गिल्टी डालकर उसको जमा कर डामर डालना था लेकिन मिट्टी डाली गई।

 

ग्रामीणों ने कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांचकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। सानिवि के एईएन नरेश जोशी का कहना है कि सामग्री घटिया नहीं है, सफाई की कमी है। पुरानी रोड़ ज्यादा टूटी हुई है, इस पर रिकार्पेट किया गया है। शिकायत की जांच कराई जाएगी। अभी तक ठेकेदार को भुगतान नहीं किया गया है। जांच के बाद ही किया जाएगा। हालांकि ग्रामीणों का कहना है कि वे शुरू से ही निर्माण कार्य में घटिया सामग्री निर्माण की बात से अवगत कराते रहे लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। सड़क में प्रयुक्त सामग्री की गुणवत्ता सही नहीं है। सड़क बन गई लेकिन लीपापोती कर दी गई। इससे ग्रामीणों को कोई फायदा नहीं हुआ है। बरसात आने के बाद सड़क के हाल-बेहाल हो जाएंगे। तेज बरसात आने पर तो यह गुणवत्ता सामग्री हीन सड़क बह भी सकती है। हालांकि जगह-जगह से तो अभी से ही उखड़ रही ह। इस पर ध्यान देना आवश्यक है।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned