हमारे नौनिहालों ने हौसलों से दी कोरोना को मात

मन के हारे हार है , मन के जीते जीत... यह चंद पंक्तियां जिले के तीन नौनिहालों पर तब अक्षरश: सही साबित हुई, जब ये तीनों कोरोना से जंग में विजयी होकर निकले।

By: Madhusudan Sharma

Published: 01 Jun 2020, 03:47 PM IST

चूरू. मन के हारे हार है , मन के जीते जीत... यह चंद पंक्तियां जिले के तीन नौनिहालों पर तब अक्षरश: सही साबित हुई, जब ये तीनों कोरोना से जंग में विजयी होकर निकले। डेडराज भरतिया अस्पताल, चूरू मे कोरोना संक्रमण के चलते भर्ती हुए सुजानगढ़ के 9 वर्षीय बालक व कोविड केयर सेन्टर, चूरू में गांव तोलासर, सरदारशहर के दो भाई-बहन (12 वर्ष) तथा (14 वर्ष) की शनिवार को आई रिपोर्ट में दोनों नेगेटिव पाए गए। इन्हें डिस्चार्ज कर इनके अभिभावकों को सौंप दिया गया। समाजसेवी अनीष गौरी, रफ ीक चौहान ,गुलाम हुसैन गौरी ने प्रस्थान होने से पूर्व बच्चों का उत्साह वर्धन करने के लिए इन्हें उपहार भेंट किए। बच्चों की खुशी उनके चेहरों से साफ महसूस की जा सकती है। इस मौके पर डा. अहसान गौरी बीसीएमओ, चूरू व डा. भालेन्दू धाबाई व दिनेश भाकर मोजुद थे।
11 दिन की जंग
सुजानगढ़ के 9 वर्षीय बालक को 20 मई को पोजिटिव पाए जाने पर देर रात डीबीएच अस्पताल, चूरू लाया गया। इस दौरान उसके माता-पिता व चार साल का भाई भी अस्पताल परिसर में ही रहे, ताकि बच्चे का हौसला बना रहे। डिस्चार्ज के दौरान बच्चे के माता पिता भावुक हो गए थे, बालक चहक रहा था। बोला कुछ दिन घर पर ध्यान रखूंगा और कोरोना जाते ही खूब खेलूंगा।
भाई-बहन थे साथ भर्ती
गांव तोलासर, सरदारशहर के दो भाई-बहन (12 वर्ष) तथा भाई (14 वर्ष) पिता के साथ कोरोना पोजिटिव आने पर कोविड केयर सेन्टर, चूरू लाए गए। सात दिन भर्ती के दौरान भाई व बहन साथ में ही रहे। शनिवार 30 मई को जांच उपरान्त रिपोर्ट नेगेटिव आने के उपरान्त भाई-बहन को घर के लिए डिस्चार्ज कर दिया गया। पिता की रिपोर्ट पहले ही पॉजिटिव आ चुकी थी। डिस्चार्ज होने से ठीक पहले भाई-बहन बोले हमें मम्मी पापा की बहुत याद आ रही है। जल्दी से उनसे मिलूूं, यही मन कर रहा है। इस राक्षस (कोरोना) ने बहुत पीड़ा दी है। भगवान! जल्दी से इसका वध करें, यही कामना है।

चूरू कोरोना फ्री
कोरोना संक्रमण काल की शुरुआत के बाद सबसे पहले प्रभावित हुई चूरू तहसील फिलहाल कोरोना फ्री हो चुकी है। 30 मार्च से संक्रमितों के आने के सिलसिले की शुरुआत हुई थी। 11 अप्रेल को एक ही परिवार के मां-बाप और उसके विकलांग बेटे के संक्रमित मिलने के बाद करीब 24 दिन की शांति रही थी। उसके बाद प्रवासियों के आगमन के साथही नए सिरे से कोरोना संक्रमित आने शुरू हुए थे। लिहाजा कुल तादाद 19 जा पहुंची थी। पिछले काफी समय से तहसील में संक्रमितों की आमद भी कम रही और नए संक्रमित भी नहीं हुए। शनिवार 30 मई को कोविड केयर सेंटर में भर्ती लादडिय़ा और खंडवा के दो मरीजों को डिस्चार्ज करने के बाद अब चूरू तहसील का कोई मरीज अस्पताल में भर्ती नहीं है। बीसीएमओ डा. अहसान गौरी ने इस उपलब्धि पर स्टाफ और खुद जनता का आभार जताया है और सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। अभी खतरा टला नहीं है। लिहाजा लोग सारे सुरक्षा उपाय, सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का उपयोग नियमित रूप से करते रहें।

Corona virus
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned