पीएम मोदी भी हुए चूरू की सुमन के मुरीद, संघर्ष की कहानी सुन बढ़ाया हौंसला

पीएम मोदी भी हुए चूरू की सुमन के मुरीद, संघर्ष की कहानी सुन बढ़ाया हौंसला

dinesh saini | Publish: Sep, 05 2018 03:50:27 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 03:51:29 PM (IST) Churu, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर/चूरू। प्रधानमंत्री के सामने जब मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए चयनित 45 अध्यापकों में से छह अध्यापकों को अनुभव बांटने के लिए चुना तो उनमें एक चूरू के राजगढ़ ब्लॉक की राजकीय मोहता बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की डॉ सुमन जाखड़ भी थी। डॉ सुमन की कहानी सुनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनकी तारीफ की। सुमन ने बताया कि राजगढ़ में अपराध का ग्राफ ज्यादा है। ऐसे में लड़कियों को स्कूल तक खींचने की चुनौती, लेकिन उन्होंने यह चुनौती स्वीकारी और कुछ ही साल में स्कूल में दाखिला 400 से बढकऱ 1300 हो गया। डॉ सुमन ने ‘पत्रिका’को बताया, ‘मैंने प्रधानमंत्री को बताया कि वह घर-घर जाकर बच्चियों को स्कूल में भेजने के लिए लोगों को मनाती है।’

 

4 बार प्रेजेंटेशन देकर मिला मुझे पुरस्कार
राष्ट्रीय पुरस्कार के चयन के लिए जारी नए दिशा-निर्देश को डॉ सुमन सकारात्मक बदलाव मानती है। वह कहती हैं पहले फाइल में कुछ दस्तावेज लगाकर पुरस्कार मिल जाते थे। इस बार ऑनलाइन सवालों का जवाब देना पड़ा। 4 बार मंत्रालय ज्यूरी के सामने प्रेजेंटेशन दिया। तब उनका चयन हुआ।


इनसे पीएम ने पूछा लिया कुछ ऐसा...
प्रधानमंत्री ने जब लंदन में मेरा नाम लेकर कहा था, हिंदुस्तान अलवर के इमरान में बसता है। तब से मैं प्रधानमंत्री से मिलना चाहता था। आज मेरी इच्छा पूरी हो गई। पीएम ने मुझसे पूछा, और इमरान कैसे हो। तुमने कितने एप बनाए हैं। यू आर डूइंग वेल! राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए चुने गए देशभर के 45 शिक्षकों में से एक अलवर के इमरान खान मेवाती भी है। उन्हें बुधवार को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु पुरस्कार से नवाजेंगे। इससे पहले उन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री से मुलाकात की। इमरान राजकीय वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृति स्कूल, अलवर में प्राइमरी क्लास के बच्चों को पढ़ाते हैं। उन्होंने अभी तक पढऩे और पढ़ाने के 80 से ज्यादा मोबाइल एप बनाए हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 2015 में उनके एप को अपने डिजिटल अभियान में शामिल किया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned