राठौड़ विधानसभा में बोले, चूरू जिला गैंगस्टरों के वर्चस्व की लड़ाई का केन्द्र

उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने विधानसभा में प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जर्जर कानून व्यवस्था के चलते अब चौपाल संस्कृति मृत हो गई है।

By: Madhusudan Sharma

Published: 12 Feb 2021, 09:53 AM IST

चूरू. उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने विधानसभा में प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जर्जर कानून व्यवस्था के चलते अब चौपाल संस्कृति मृत हो गई है। राठौड़ बोले कि चूरू जिला गैंगस्टरों की वर्चस्व की लड़ाई का केन्द्र बन गया है। अजय जैतपुरा व संपत नेहरा गैंग के खूनी संघर्ष ने जिले में दशहतगर्दी का माहौल बना दिया है। उन्होंने कहा कि बदमाश व्यापारियों से रंगदारी करते हैं, वहीं पुलिस मूकदर्शक व हिस्सेदारी की भूमिका निभा रही है। राठौड़ ने विधानसभा में चूरू जिले के थाना हमीरवास की ढाणी मौजी में हुए हत्याकांड मामले को उठाते हुए कहा कि जिस तरह ग्रामीणों ने घटना के बारे में बताया उससे लगता है कि फिल्मों में दिखाए जाने वाले दृश्य अब राजस्थान में वास्तविकता का रूप ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि लारेंस व संपत नेहरा गैंग से ताल्लुक रखने वाले आधा दर्जन शूटरों ने ढाणी मौजी में अंधाधुंध फायरिंग की जिसमें ताश खेल रहे गैंगस्टर प्रदीप स्वामी के अलावा दो निर्दोष ग्रामीणों की मौत हो गई। इतना ही नहीं बेखौफ गैंगस्टरों ने पीछे छूट रहे साथी की गोली मारकर हत्या कर दी। उपनेता प्रतिपक्ष राठौड़ ने कहा कि प्रदीप ने दिनदहाड़े नरेश की हत्या की। एक तरफ पुलिस प्रदीप को अपराधी मानते हुए इनाम घोषित करती है, दूसरी तरफ सुरक्षा के लिए दो सिपाही तैनात किए। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस उसे पकडऩे आती है तो पुलिस सुरक्षा में रहने वाले इनामी अपराधी प्रदीप स्वामी को गिरफ्तार नहीं कर पाती। सवाल भरे लहजे में कहा कि इसे राजनीति संरक्षण कहे या फिर प्रशासन-गैंगस्टर की मिलीभगत। राठौड़ ने कहा कि मामले में चूरू एसपी सफाई दे रहे है कि उन्होंने 8 जनवरी को सुरक्षा गार्ड हटा दिए गए थे। राठौड़ ने कहा कि जिसे राजस्थान पुलिस महिनों तक ढूंढ नहीं पाई। वहीं प्रदीप स्वामी पत्नी का स्टार प्रचारक बनकर पत्नी को चुनाव जिताने के लिए महिनों तक गांवों में खुलेआम घूमता रहा।
हत्यारों को उपलब्ध कराए मोबाइल व सिम
प्रदीप हत्याकांड पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपी सोमवीर जाट ने बताया कि उसने प्रदीप स्वामी के हत्यारों को दो मोबाइल व दो सिम उपलब्ध कराई थी। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि हत्या की साजिश में शामिल होने सहित उसने गांव में आकर रैकी भी की थी। बाद में साथी बदमाशों के साथ मिलकर हत्याकांड की योजना बनाई थी।

प्रदीप स्वामी हत्याकांड मामले में एक और आरोपी गिरफ्तार
सादुलपुर. छह रोज पूर्व गांव जैतपुरा ढाणी मौजी में हुए हत्याकांड मामले में गठित पुलिस टीम ने गुरुवार को अपराधियों की धरपकड़ करने के लिए अनेक संभावित जगहों पर दबिष दी। वहीं पुलिस ने एक और बदमाश को गिर तार करने में सफलता प्राप्त की है। प्रकरण की जांच कर रहे एएसपी पवन मीणा ने बताया कि घटना में शामिल आरोपी हरियाणा के सिवानी थानान्तर्गत गांव कालोद निवासी आरोपी सोमवीर पिलानिया उम्र 40 वर्ष को गिर तार किया गया है। इसके अलावा मामले में गंभीरता के साथ चूरू एसपी ने नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने हरियाणा के अनेक क्षेत्रों में दबिश दी है। उन्होंने बताया कि पुलिस को शीघ्र ही सफलता मिलेगी। वहीं प्रकरण में पुलिस के उच्च अधिकारी कड़ी नजर रखे हुए है। जिसमें एसओजी पुलिस भी शामिल है। मीणा ने बताया कि इसके अलावा प्रकरण में पुलिस ने घटना में शामिल बैरासर निवासी आरोपी संदीप कुमार एवं अपराधियों का सहयोग करने वाले आरोपी खैरू छोटी निवासी सोमवीर को गिर तार करने में सफलता प्राप्त की है तथा दोनों ही आरोपी पुलिस रिमांड पर चल रहे हैं। वहीं जिला पुलिस अधीक्षक सादुलपुर पहुंचे तथा मामले में को लेकर टीम में शामिल अधिकारियों से वार्ता की। उन्होंने बताया कि गिर तार आरोपी को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ कर अन्य फरार आरोपियों को भी गिर तार करने की कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned