युद्ध स्तर पर सैंपलिंग, जमात के सभी लोग चिन्हित

शायद यही वजह रही कि चूरू और सरदारशहर मिला कर रविवार को एक ही दिन में 86 सैंपल बीकानेर जांच के लिए भेजे गए।

By: Brijesh Singh

Published: 06 Apr 2020, 10:11 PM IST

चूरू. 30 मार्च को निजामुद्दीन कनेक्शन के नौ लोगों के चूरू में और 8 लोगों के सरदारशहर में मिलने के बाद इनमें से नौ लोगों की कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाने को राज्य स्तर पर गंभीरता से लिया गया है। बताया जाता है कि दो दिन पहले शासन स्तर पर हुई वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एसीएस रोहित कुमार सिंह ने हालात की खुद समीक्षा की। इसके बाद उन्होंने संयुक्त निदेशक देवेंद्र चौधरी को चूरू में हालात का जायजा लेने भेजा। शनिवार को चूरू पहुंचे चौधरी ने जिला कलक्टर और स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बताया जाता है कि इसी बैठक में तय हुआ कि जमात कनेक्शन के जितने भी लोग मिलें, उन्हें न सिर्फ आईसोलेट किया जाए, बल्कि सैंपलिंग भी कराई जाए। शायद यही वजह रही कि चूरू और सरदारशहर मिला कर रविवार को एक ही दिन में 86 सैंपल बीकानेर जांच के लिए भेजे गए। खबर है कि सैंपलिंग का काम रविवार को देर रात तक जारी रहा। इसलिए इसका आंकड़ा और भी बढऩे की उम्मीद है।

चूरू में क्या हुआ
चूरू में रविवार को चिकित्सा विभाग की 32 टीमों ने अलग-अलग जमात कनेक्शन के अलग-अलग चार धार्मिक स्थलों और उसके आसपास की कॉलोनियों, आबादी का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने तबलीगी जमात के अलावा भी विभिन्न जमातों से जुड़े तकरीबन 50 ऐसे लोगों को चिन्हित किया, जिसके बारे में या तो उन्हें खुद जमात के लोगों ने जानकारी दी थी अथवा स्वास्थ्य टीमों को अपने स्तर पर जानकारी मिली थी। इन लोगों को चूरू शहर के अलग-अलग हिस्सों में स्थिति धार्मिक स्थलों से चिन्हित किया गया।

इनमें राजकीय कन्या महाविद्यालय के पीछे स्थित धार्मिक स्थल के अलावा दूधवाखारा और दीपालसर रोड रेलवे लाइन के पार स्थित एक धार्मिक स्थल शामिल है। शाम तक यहां से 26 लोगों को चिन्हित कर उनकी पिछले दिनों की गतिविधियों के बारे में जानकारी ली गई।

सात लोगों का निजामुद्दीन कनेक्शन भी!
जानकारी के मुताबिक, स्क्रीनिंग के दौरान ही स्वास्थ्य टीमों को जानकारी मिली कि इनमें से सात लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने 16/17 मार्च को दिल्ली में निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात की उस मस्जिद में नमाज अता की थी, जहां से निकले जमात के अन्य लोगों के जरिए पूरे देश में संक्रमण तेजी से फैला है। खासतौर से चूरू में तो जो नौ स्पष्ट मामले कोरोना पॉजिटिव के मिले, वे सभी तबलीगी जमात से जुड़े लोग ही थे, जो हाल ही में दिल्ली की निजामुद्दीन स्थित मरकज के सम्मेलन से लौटे थे।

चूरू की ताजा खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

Brijesh Singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned