कृषि मण्डी में महिनों बाद लौट रही है रौनक

कृषि उपज मण्डी समिति में कई महिनों बाद खरीफ फसलों की आवक शुरू होनेे पर रौनक लौट रही है। कोरोना के चलते मण्डी का कारोबार ठप हो गया था।

By: Madhusudan Sharma

Published: 08 Oct 2020, 11:01 AM IST

सरदारशहर. कृषि उपज मण्डी समिति में कई महिनों बाद खरीफ फसलों की आवक शुरू होनेे पर रौनक लौट रही है। कोरोना के चलते मण्डी का कारोबार ठप हो गया था। वही प्रवासी मजदूर अपने प्रदेशों की ओर पलायन करने पर मण्डी में सन्नटा पसर गया था। जिसके कारण मण्डी के व्यापारी हाथ पर हाथ धरे बैठे थे। अब नई फसलों की आवक शुरू होने पर व्यापारियों को कारोबार शुरू हुआ है। व्यापारी फसलों की बोली लगाकर खरीद रहे है। मंडी में मंूगफली, कपास, मोठ, मूंग आदि की ढेरियां नजर आने लगी है। फसलों का सीजन शुरू होने से मंडी के व्यापारियों, आढ़तियों, श्रमिकों व कर्मचारियों में खुशी का माहौल बनने लगा है। कोरोना के चलते पिछले कई महिनों से मंडी सुनसान दिखाई दे रही थी। लेकिन अब खरीफ की फसलों की आवक शुरू होने से मंडी में एक बार फिर से रौनक लौट रही है तथा धीरे धीरे मंडी में कारोबार सामान्य होता जा रहा है।
4700 रूपये प्रति क्विंटल बिकी मूंगफली
बुधवार को नई अनाज मंडी में आई मूंगफली, कपास, मूंग, मोठ खुली बोली में व्यापारियों ने बोली लगाई। जिसके कारण मूंगफली का अधिकतम भाव 4700 रुपए प्रति क्विंटल, कपास 5100 , मूंग 6400 व मोठ 5900 रुपए प्रति क्विंटल रहा। मण्डी व्यापार संघ के मंत्री सुखवीर पारीक का कहना है कि महिनों बाद मण्डी में रौनक लौट रही है। नई फसले आनी शुरू होने से कारोबार शुरू हुआ है। कोरोना के दौरान सभी प्रवासी मजदूर अपने प्रदेश चले गए थे, अब वापस लौटने शुरू हो गए है। अब धीरे-धीरे कारोबार र तार पकड़ेगा। इस अवसर पर अध्यक्ष परतुराम सारण, व्यापार एवं उद्योग संघ के अध्यक्ष शिवरतन सर्राफ, उपाध्यक्ष प्रभुराम पूनियां, महावीरप्रसाद, प्रहलाद पांडिया, ओमप्रकाश डूडी आदि व्यापारियों ने बोली लगाई।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned