ओवरब्रिज का निर्माण कार्य देखा,जताया रोष

शहर में पिलानी रेलवे फाटक पर बनने वाले ओवरब्रिज निर्माण कार्य का एसडीएम सुभाष भडिय़ा एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के अधीक्षण अभियंता ने निरीक्षण किया।

By: Madhusudan Sharma

Published: 03 Jan 2019, 02:04 PM IST

सादुलपुर. शहर में पिलानी रेलवे फाटक पर बनने वाले ओवरब्रिज निर्माण कार्य का एसडीएम सुभाष भडिय़ा एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के अधीक्षण अभियंता ने निरीक्षण किया। ओवरब्रिज निर्माण को लेकर विभाग की ओर से जारी नोटिस को लेकर दुकानदारों एवं अन्य लोगों ने नाराजगी जताई। लोगों ने कहा कि नोटिस जारी हो गया लेकिन मुआवजे की कोई बात नहीं हो रही है। इसके अलावा निर्माण के अन्तर्गत पेयजल लाइन टूटने एवं घरों में गंदा पानी पहुंचने की भी लोगों ने शिकायतें कीं। इस अवसर पर एसडीएम सुभाष भडिय़ा, हाई-वे के अधीक्षण अभियंता विनोद कुमार, तहसीलदार प्रदीप चाहर ने निर्माण कार्य का अवलोकन किया। उन्होंने ओवरब्रिज निर्माण करने वाले ठेकेदारों के कार्मिक, इंजीनियर्स आदि से जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर अधिकारियों ने पानी, बिजली एवं टेलिफोन जैसी व्यवस्था बाधित होने तथा कोई भी बुनियादी सुविधा बाधित होने पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को अवगत करवाने के निर्देश दिए। ताकि समय रहते समस्या का निराकरण हो सके। वहीं अधिकारियों ने ओवरब्रिज निर्माण के लिए भरे जा रहे पिल्लरों के निर्माण कार्य की गुणवत्ता की भी जांच की। एसडीएम सुभाष भडिय़ा ने प्राप्त शिकायतों का मौके पर ही निराकरण करने के लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि क्षतिग्रस्त पेयजल लाइन को दुरस्त कर दिया गया है। लोगों ने कहा कि एक सप्ताह से अधिक समय से घरों में पीने का पानी नहीं आ रहा है तथा लाइन क्षतिग्रस्त होने से घरों में दूषित पानी पहुंच रहा है। जिस पर अधिकारियों ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

लोगों ने जताया रोष
इस अवसर पर दुकानदारों एवं ओवरब्रिज निर्माण के दौरान चिह्नित मकान के मालिकों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर बताया कि सानिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खण्ड चूरू की ओर से एक नोटिस सूचना-पत्र प्राप्त हुआ है। जिसमें पिलानी रोड़, रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज निर्माण कार्य शुरू करवाया जा रहा है तथा ओवरब्रिज निर्माण प्रक्रिया में रेलवे फाटक के दोनों तरफ सरकारी सड़क की भूमि पर अतिक्रमण निर्माण करने बाबत लिखते हुए निर्माण कार्य को हटाने का लिखा है। अतिक्रमण नहीं करने वालों को भी नाटिस जारी कर दिया गया। ज्ञापन में बिना मुआवजा दिए निर्माण हटवाने जैसी कार्रवाई को रोक कर मुआवजा दिलवाने की मांग भी की है। इसके अलावा ज्ञापन में राजस्व विभाग के कर्मचारियों को नियुक्त कर राजगढ़-पिलानी रोड़ की रेलवे फाटक की दोनों तरफ की सीमाओं का अंकन करवाए जाने की मांग की है। ताकि अतिक्रमण की सही एवं वास्तविक स्थिति का आंकलन हो सके एवं दुकानदारों एवं मकान मालिकों को भी न्याय मिल सके।

इनका कहना है
निरीक्षण करने में जो दिक्कतें सामने आ रही थी या आने की संभावना हैं, उनको लेकर साइड पर चर्चा की गई। निरीक्षण में अधिकारियों ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया कि सात जनवरी को बैठक लेकर प्राप्त शिकायतों का निराकरण किया जाएगा।
विनोद कुमार, हाइवे अधीक्षक अभियंता, चूरू।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned