चूरू में सभापति के लिए कांग्रेस में बगावत के सुर तेज, ठोकी ताल

सभापति पद की दावेदारी को लेकर कांग्रेस में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। पार्टी की महिला पार्षद ने अधिकृत प्रत्याशी के सामने अपना पर्चा दाखिल कर दिया है।

चूरू. सभापति पद की दावेदारी को लेकर कांग्रेस में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। पार्टी की महिला पार्षद ने अधिकृत प्रत्याशी के सामने अपना पर्चा दाखिल कर दिया है। ऐसे में पार्टी में बगावत के सुर तेज होते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस में उपजे इस असंतोष को भुनाने के लिए भाजपा भी कांग्रेस की प्रत्येक गतिविधि पर टकटकी लगाए हुए हैं। जानकारी के अनुसार कांग्रेस की ओर से प्रदेश उपाध्यक्ष हाजी मकबूल मंडेलिया और रफीक मंडेलिया ने पार्षदों की बाड़ेबंदी के दौरान पायल सैनी के नाम पर सभापति के दावेदार की मुहर लगाई है। जबकि सभापति के लिए सरोज सैनी, खातून निर्बाण, नशीम निशा भी दावेदार थीं लेकिन राजनीतिक सूझबूझ के चलते पायल सैनी को सभापति का उम्मीदवार घोषित किया गया। इससे नाखुश पार्टी की सरोज सैनी के पति नरेन्द्र सैनी ने विरोध जताते हुए पार्टी प्रत्याशी के समक्ष ताल ठोकने का निर्णय किया और पर्चा दाखिल कर दिया। ऐसे में बगावती सुर तेज होने से कांग्रेस सकते में आ गई है। कांग्रेस ने इसको नियंत्रित करने के प्रयास तेज कर दिए हैं। शनिवार को नाम वापसी के बाद ही राजनीतिक चर्चाओं पर विराम लग पाएगा। 26 नवंबर मतदान को सभापति के लिए मतदान होगा। इसके बाद गणना कर परिणाम जारी किए जाएंगे। गुरुवार को नगरपरिषद में तीन प्रत्याशियों ने पांच पर्चे दाखिल किए हैं। जिनमें पायल सैनी ने कांग्रेस व निर्दलीय, सरोज सैनी ने कांग्रेस व निर्दलीय पर्चा दाखिल किया है। भाजपा की तरफ से सभापित की दावेदारी के लिए निर्मला सैनी ने नामांकन दाखिल किया है।


मंडेलिया व पार्षद पति में बहस
पर्चा भरने के बाद पार्षद सरोज सैनी के पति नरेन्द्र सैनी व कांग्रेस नेता मंडेलिया के बीच में पर्चा दाखिल कार्यालय के बाहर बहस हो गई। दोनों ने एक-दूसरे पर शब्दों के तीखे प्रहार किए। ऐसे में एक बारगी माहौल गर्मा गया। बाद में दोनों पक्ष वहां से रवाना हो गए। कांग्रेस के कुछ पदाधिकारियों ने पार्षद पति से पर्चा उठाने का दबाव बनाया गया। पार्षद पति नरेन्द्र ने कहा कि पार्टी ने उनके प्रत्याशी का विश्वास तोड़ा है। घटनाक्रम के करीब आधा घंटे बाद सरोज सैनी वापस पहुंची व निर्दलीय सभापति के लिए ताल ठोकी, प्रस्तावक के तौर पर असलम हुसैन ने हस्ताक्षर किए हैं।


भाजपा का ओबीसी में सेंधमारी का प्रयास
इधर भाजपा ने भी सैनी समाज की महिला को सभापति का दावेदार घोषित किया है। कांग्रेस के सामने सैनी समाज का प्रत्याशी उतारकर ओबीसी के मतों में सेंध लगाने का प्रयास किया है। भाजपा का ये प्रयोग कितना सफल हो पाता है। ये आने वाला समय तय करेगा। इतना तय है कि सभापति की दावेदारी का मुकाबला रोचक होगा। भाजपा आखिरी तक जोड़-तोड़ के प्रयास में है।

Madhusudan Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned