एक हादसे ने उजाड़ दिए तीन परिवार, दो शिक्षक भाइयों की मौत

शहर से करीब छह किमी दूर एनएच 52 पर झंकार होटल के पास हुए सड़क हादसे ने तीन परिवारों को उजाड़़ दिया

By: Rakesh gotam

Published: 24 May 2018, 11:12 PM IST

चूरू/सरदारशहर.

शहर से करीब छह किमी दूर एनएच 52 पर झंकार होटल के पास हुए सड़क हादसे ने तीन परिवारों को उजाड़़ दिया। परिवार व रिश्तेदारी में कुल चार लोगों की मौत हो गई। इसमें दो सगे भाई भी शामिल हैं। दोनों सगे भाईयों में एक चूरू व एक सरदारशहर में शिक्षक के पद पर कार्यरत थे। मृतक सरदारशहर निवासी शिक्षक धर्मवीर सिहाग व पत्नी कांता की मौत हो गई। भाई कन्हैयालाल व भांजा पूनिया कॉलोनी निवासी दीपेश फगेडिय़ा की भी मौत हो गई। दीपेश जीएनएन की पढ़ाई कर नौकरी की तैयारी कर रहा था। धर्मवीर का बेटा विक्रम झुंझुनूं में भर्ती है और बहन सुनीता जिंदगी-मौत की जंग लड़ रही है, जिसे झुंझुनूं से जयपुर रैफर कर दिया गया है। हादसे ने तीनों परिवार को जीवनभर का बड़ा जख्म दे गया।

 


एक मैसेज पर सेवा के लिए जुटे भाजपा कार्यकर्ता

 

घटना के समय पार्षद सीताराम लुगरिया व बीसीएमएमओ डा. इदरीश खान व बीपीएम ओमप्रकाश प्रजापत घटना स्थल के आस-पास ही थे। घटना को देखकर उन्होंने घायलों को दोनों क्षतिग्रस्त गाड़ी से निकालकर एंबुलेंस से अस्पताल भिजवाया। लुगरिया ने घटना स्थल से ही पार्टी कार्यकर्ताओं को अस्पताल में सेवा करने के लिए मैसेज किया। वहीं बीसीएमओं ने अस्पताल को सूचित कर दिया। इस पर भाजपा जिलाध्यक्ष डा. वासुदेव चावला के नेतृत्व में करीब एक दर्जन से अधिक कार्यकर्ता घायलों की सेवा करने के लिए अस्पताल में पहुंच गए। घटना की सूचना मिलने पर जिला प्रमुख हरलाल सहारण भी अस्पताल पहुंच और घायलों से घटना की और चिकित्सकों से घायलों के हालात की जानकारी ली। अस्पताल में लखेंद्र सिंह दांदू, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष जाकिर खान, राजेश लाटा, अमजद तुगलक, आसिफ खान टीपू, पीथीसर सरपंच जंगशेर खान आदि अस्पताल पहुंचे।

 


अलर्ट रहे चिकित्सक

 

सड़क हादसे की सूचना मिलने पर अस्पताल के चिकित्सक अलर्ट हो गए। इसमें उप नियंत्रक डा. जेपी महायच, सहायक आचार्य सर्जन डा. जेपी चौधरी, डा. संदीप अग्रवाल, डा. जगदीश भाटी, डा. मुकुल धाभाई, डा. राहुल कस्वां, डा. आनंद प्रकाश शर्मा, डा. अनिल बुडानिया, डा. संदीप गजराज, डा. विकास देवड़ा, डा. राजेंद्र कुमावत, डा. दीपक चौधरी, डा. अजीत गढ़वाल ने घायलों का उपचार किया। शाम को तहसीलदार महिपाल सिंह राजावत ने भी अस्पताल पहुंचकर घायलों की स्थिति का जायजा लिया।

 

 

बेटियों के सिर से उठा मां-बाप का साया

 

मृतक धर्मवीर के चार बेटियां व एक बेटा है। दो बेटियों की शादी हो गई है दो बेटियों एक बेटे की शादी होना बाकी है। लेकिन इससे पहले ही भगवान ने तीनों के सिर से मां-बाप का साया उठा गया। धर्मवीर ने करीब सवा माह पहले ही कार खरादी थी और अपनी ही कार से पत्नी, भाई, बहन व भांजे को साथ लेकर ससुराल में सलहज के अंतिम सस्कार में जा रहा था।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned