छोटी सी उम्र में इतिहास में दर्ज हो गए ईश्वरसिंह

गांव मुंदीताल में रविवार को शहीद ईश्वर सिंह धाणक की प्रतिमा का अनावरण किया गया।

By: Rakesh gotam

Published: 11 Dec 2017, 12:09 PM IST

सादुलपुर. गांव मुंदीताल में रविवार को शहीद ईश्वर सिंह धाणक की प्रतिमा का अनावरण किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने शहीद भगतसिंह चौक एवं बस स्टैण्ड सहित लगभग दस करोड़ की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण भी किया।ग्राम पंचायत मुंदीताल प्रगति के पथ पर पुस्तिका का विमोचन भी किया। राउमावि में आयोजित समारोह में पंचायत राज मंत्री राठौड़ ने कहा कि देश एवं समाज की रक्षा के लिए जो अपने प्राणों की आहुति देते हैं, वे अमर हो जाते हैं। उन्होंने शहीद परिवार को सहायता का आश्वासन देते हुए कहा कि दर्द के साथ गर्व भी है कि गांव के लाल ईश्वर सिंह ने देश की रक्षा करते अपने प्राणों की आहुति दी। उन्होंने छोटी-सी उम्र में अपने माता-पिता तथा गांव का नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज कर दिया।

 


दिलाएंगे बकाया पैकेज


उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में शेखावाटी के १४ फीसदी युवा सैनिक हैं। कारगिल युद्ध में शेखावाटी के 21 तथा सात युवक चूरू जिले से देश की रक्षा करते शहीद हुए थे। राठौड़ ने वाजपेयी सरकार की ओर से शहीदों को दिए गए सम्मान पर चर्चा की। शहीद परिवार को आगामी दो महीनों में बकाया चल रहा पैकेज दिलवाने, शहीद के नाम स्कूल का नामकरण करने, स्कूल की चारदीवारी निर्माण करने तथा पीएचसी खोलने का आश्वासन दिया। उन्होंने १६ करोड़ ६३ लाख रुपए की स्वीकृत राशि में से दस करोड़ रुपए विकास कार्य पर खर्च करने एवं गांव को आदर्श बनाने पर सरपंच राजकुमार बेनीवाल का अभिनंदन किया।

 

इस अवसर पर विधायक जयनारायण पूनिया ने ग्रामीणों की मांग पर दलित बस्ती में हॉल निर्माण की घोषणा की। पूनिया ने कहा कि विकास कार्यों का मूल्यांकन कर सहयोग करें। अलवर क्षेेत्र से विधायक सूरजभान, जिला प्रमुख हरलाल सहारण, भाजपा जिलाध्यक्ष वासुदेव चावला व रतनसिंह राठौड़ ने भी विचार व्यक्त किए। शहीद की माता सावित्री देवी, वीरांगना मंजीता एवं पिता जुगलाल का राठौड़ एवं अतिथियों ने अभिनंदन किया। भारत माता एवं शहीद ईश्वरसिंह अमर रहे जयकारों के बीच प्रतिमा के अनावरण पर ग्रामीणों ने पुष्प-वर्षा की। सरपंच राजकुमार बेनीवाल ने विकास कार्यों को रेखांकित किया।

 

आंखें हुई नम


शहीद की प्रतिमा के अनावरण पर उनके पुत्र रमन व अमन ने भी पुष्पार्पित किए। उपस्थित लोगों एवं अधिकारियों की आंखें नम हो गईं।

 

इन्होंने किया अतिथियों का स्वागत


संस्था प्रधान निशा चौधरी, मनरूप मांजू, तेजाराम चाहर, शेरसिंह, रामजीलाल मेघवाल, धर्मपाल मेघवाल, राजेन्द्र पेंटर, मालाराम सुंडा, दरियासिंह पूनिया, जगदीश कड़वासरा, शीशपाल कोठारी, संतलाल मेघवाल, सांवरमल बेनीवाल, रामकुमार, प्रतापसिंह आदि ने अतिथियों का स्वागत किया।

 

तारानगर से चुनाव लड़ें राठौड़


पार्षद राकेश जांगिड़ ने राठौड़ से पुन: तारानगर से चुनाव लडऩे पर जोर दिया। उप जिला प्रमुख सुरेन्द्र स्वामी, जिला महामंत्री चंद्राराम गुरि, जिला उपाध्यक्ष महावीर पूनिया, संदीप काजला एवं कृष्ण भाकर ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन वीर बहादुरसिंह राठौड़ ने किया।

 


13 माह पहले हुए थे शहीद


शहीद ईश्वरसिंह 13 नवंबर 2016 को जम्मू-कश्मीर के गुरेज सैक्टर में शहीद हो गए थे। वे 12 नवंबर 2016 को सेना की गाड़ी लेकर जम्मू-कश्मीर के गुरेज सैक्टर में बनी चैक पोस्ट पर जा रहे थे। तभी अचानक पहाड़ टूटने से उनकी गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई और ईश्वरसिंह शहीद हो गए। वे दुश्मनों से मुकाबले के लिए आवश्यक सामान लेकर चैकपोस्ट पर जा रहे थे। 32 वर्षीय सैनिक ईश्वर भारतीय सेना के आरटी कंपनी में तैनात थे।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned