प्रधानाध्यापक-शिक्षक में तकरार का वीडियो वायरल

गांव बाड़ा के राजकीय माध्यमिक स्कूल की एसएमसी बैठक में एक शिक्षक व प्रधानाध्यापक के बीच हुई तकरार का एक वीडियो वारयल हो रहा है।

By: Madhusudan Sharma

Published: 01 Mar 2021, 10:29 AM IST

सुजानगढ़. गांव बाड़ा के राजकीय माध्यमिक स्कूल की एसएमसी बैठक में एक शिक्षक व प्रधानाध्यापक के बीच हुई तकरार का एक वीडियो वारयल हो रहा है। इस वीडियो में तकरार के माध्यम से शैक्षणिक व्यवस्था की पोल खुल रही है। इसके बावजूद उच्चाधिकारी निरीक्षण व निगरानी के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति करते नजर आ रहे हैं। इस झगड़े पर कोई टिप्पणी करने से कतरा रहे हैं। यह वीडियो कब का है, स्पष्ट नहीं है, लेकिन स्कूल परिसर में एकत्रित ग्रामीणों के बीच प्रधानाध्यापक प्रमिल कटेवा व शिक्षक शंकरलाल मेघवाल बैठक में खड़े होकर ग्रामीणों के समक्ष अपनी-अपनी सफाई देकर पक्ष रख रहे हंै। वीडियो में प्रधानाध्यापक कटेवा कह रहे हंै कि मनमर्जी से आने वाले शिक्षक शंकरलाल के कोरोना काल के बाद दो दिन समय पर न आने पर उपस्थित रजिस्टर में लाइन खींच दी। तब नाराज शिक्षक शंकरलाल ने गाली गलौज की, आदेश को मानते नहीं, दूसरों से फोन कराकर डराते, मारने का प्रयास करते, रजिस्टर छींनने की कोशिश कर नियंत्रण अधिकारी को दादागिरी दिखाई। वीडियो में प्रधानाध्यापक यह कहते दिखाई दे रहे हंै कि बिना अवकाश स्वीकृत कराए अनुपस्थित रहते हैं। प्रधानाध्यापक ने इसकी सूचना सीबीईओ कार्यालय को भी दी। शिक्षक शंकरलाल को नोटिस भी दिया। इसके बाद शिक्षक मेडीकल व अवकाश पर है।
इनका कहना है
&स्कूल में ग्रामीणों की बैठक कर उनको सारी स्थिति से अवगत कराया था। इसका वीडियो किसने बनाया, पता नहीं, लेकिन यह सही है। मैने शिक्षक शंकरलाल मेघवाल को नोटिस दिया।
प्रमिलकटेवा, प्रधानाध्यापक रामावि बाड़ा।
&प्रधानाध्यापक ने लिखित में हमें अवगत नहीं कराया। शायद उन्होंने अपने स्तर पर ही समाधान कर लिया होगा।
ओमप्रकाशदेवठिया, सीबीईओ सुजानगढ़
&प्रधानाध्यापक भी फाल्ट है। मैं फाल्ट नहीं हूं। स्कूल की छवि को लेकर मैं ज्यादा नहीं बोला। प्रधानाध्यापक के आदेश मानता हूं।
शंकरलालमेघवाल, शिक्षक, रामावि, गांव बाड़ा

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned