मेघवाल क्या बोले, ये सुनकर आप भी रह जाएंगे दंग

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि कार्यकर्ता जातिवाद छोड़ें तब विकास को गति मिलेगी।

By: Madhusudan Sharma

Published: 07 Jan 2019, 02:30 PM IST

सुजानगढ़. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि कार्यकर्ता जातिवाद छोड़ें तब विकास को गति मिलेगी। काम से वोट नहीं मिलते। यदि काम से वोट मिलते तो मैं पिछला चुनाव नहीं हारता। क्योंकि पिछले बार मैंने खूब विकास कार्य कराए थे। वे रविवार शाम चार बजे तेरापंथ सभा भवन में शहर व देहात कमेटियों के कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं जनता की आंकाक्षाओं व आशाओ पर पूरी तरह खरा ऊतरूंगा। मेघवाल ने सांडवा के रतनसिंह राजपूत का हाथ उंचा उठाकर सभी को संदेश दिया कि तेज पत्ता (स्थानीय नाराज नेता) की नहीं अपितु मेरा साथ देने वालों की चलेगी। उनके वाजिब काम तुरंत होंगे। मेघवाल ने कहा कि मेरे विभाग में माल नहीं है। लेकिन गरीब, असहाय, निशक्तजनों के काम करके राहत देने का सशक्त माध्यम है। इसलिए सुजानगढ़ क्षेत्रवासियों की सेवा करूंगा। जबकि पूरे राजस्थान में भाषण दूंगा। उन्होंने स्पष्ट लहजे में कहा कि जो लोग इन चुनावों में भटक गए थे। वे मेरे साथ आते हैं तो स्वागत है। क्योंकि लोकसभा चुनाव में इस मिली बढ़त को दुगना करना है। कांग्रेस अनुशासन समिति के चेयरमैन मेघवाल ने इशारों में संकेत दिए कि यदि निष्कासित नेता को पार्टी में वापिस लिया जाता है तो वर्तमान नेता व कार्यकर्ता दूर नहीं जाना। इससे पहले मेघवाल, प्रधान गणेश ढाका, सभापति सिकन्दर अली खिलजी, शहर अध्यक्ष सविता राठी, देहात अध्यक्ष विद्याधर बेनीवाल का युवक कांग्रेस अध्यक्ष मुकुल मिश्रा, देहात सचिव सुरेंद्रसिंह राठौड़, राधेश्याम अग्रवाल, सरपंच जैसाराम प्रजापत, सरपंच करणाराम मेघवाल, महासचिव बलराम खिलेरी, रामावतार मंगलहारा, जेठाराम यादव, डा. एसके छाबड़ा, अजय ढ़ेनवाल, पार्षद महावीर मंडा, सरला पांडे, डा. योगिता सक्सेना सहित 125 कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष भंवरलाल पुजारी, जिला प्रवक्ता मोहम्मद इदरीश गौरी, मोहन सुराणा, असलम मौलानी, सभापति खिलजी व प्रधान ढाका ने विचार व्यक्त किए। संचालन सविता राठी ने किया।

मुस्लिम वोट 99 प्रतिशत
उन्होंने कहा कि मुस्लिमों के 99 प्रतिशत व मेघवालों के 95 प्रतिशत वोट मुझे मिले हैं। पहली बार महिला कार्यकर्ता से इतनी बड़ी संख्या में प्रचार करते देखा था। तभी मुझे विश्वास हो गया कि जीत का ग्राफ काफी ऊंंचा जाएगा और परिणाम भी वही रहा।

अटैची में बंद रह गए सूट
मेघवाल खुलकर बोले, कहा कि मंत्रीमंडल विस्तार से पहले कई बड़े नेताओं ने नए सूट सिलवाए। लेकिन उनके सूट अटैची में बंद ही रह गए और मेरी धोती को मौका मिला।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned