शिक्षक संघ शेखावत ने क्यों सौंपे ज्ञापन

विभिन्न मांंगों को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत के जिलाध्यक्ष विजय पोटलिया के नेतृत्व में शिक्षकों ने शिक्षामंत्री तथा निदेशक माध्यमिक शिक्षा बीकानेर के नाम एक ज्ञापन सीबीईओ शशिबाला खत्री को सौपा।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 17 Jun 2020, 08:31 AM IST

सरदारशहर. विभिन्न मांंगों को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत के जिलाध्यक्ष विजय पोटलिया के नेतृत्व में शिक्षकों ने शिक्षामंत्री तथा निदेशक माध्यमिक शिक्षा बीकानेर के नाम एक ज्ञापन सीबीईओ शशिबाला खत्री को सौपा। जिलाध्यक्ष विजय पोटलिया ने बताया कि शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त करने के मुख्य सचिव के आदेश की पालना सुनिश्चित की जाए। तहसील अध्यक्ष गौरीशंकर सिहाग,मंत्री अमरचंद सांडेला ने बताया कि शिक्षकों पर कुठाराघात बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस अवसर पर भींवराज पाटोदिया, खेताराम सांडेला, हरिदास स्वामी आदि उपस्थित थे।
रतनगढ़. निजी शिक्षक महासंघ रतनगढ़ की ओर से मंगलवार को एसडीएम गौरव सैनी को मुख्यमंत्री के नाम व सीबीईईओ अधिकारी लालचन्द वर्मा को शिक्षा मंत्री के नाम अलग-अलग ज्ञापन सौंपे। ज्ञापन में लॉकडाउन समय का वेतन दिलवाने सहित 5 सूत्रीय मांगें हैं। ज्ञापन देने वालों में महासंघ के तहसील अध्यक्ष किस्तूरनाथ सिद्ध, उपाध्यक्ष गोपीचंद धेतरवाल, सचिव प्रमोद टांडी, महासचिव दिनेश शर्मा, लक्ष्मीनारायण प्रजापत प्रमुख थे।
चूरू. लाडनूं में राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत के अध्यक्ष नानूराम गोदारा ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर ग्रीष्मावकाश के दौरान ड्यूटी कर रहे शिक्षकों को उपार्जित अवकाश देने की मांग की। ज्ञापन में लिखा है कि कोविड 19 महामारी के कारण शिक्षा विभाग के विभिन्न कार्मिकों को भी ड्यूटी पर लगाया गया है, अत: नियमानुसार इन्हें उपार्जित अवकाश दिया जाए।
प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को ज्ञापन, माकपा ने जताया विरोध
सरदारशहर. विभिन्न मांगों को लेकर माकपा के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन उपखण्ड अधिकारी को सौपकर विभिन्न समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया। उन्होंने लिखा कि कोरोना महामारी के चलते देश और प्रदेश में लगाए गए लॉकडाउन के कारण निम्न व माध्यम वर्ग को भयंकर आर्थिक नुकसान हुआ है। लोगों के रोजगार खत्म हो चुके हैं। वही किसानों को उसकी फसल व दूध का उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। इन सब को मंदी से उबारने के लिए सभी तरह के बिजली बिल 6 माह के लिए माफ करने, बकाया फसल बीमा तुरंत जारी करने, गांवों में पेयजल व बिजली की आपूर्ति नियमित करने की मांग की है। इस अवसर पर भगवानराम जाखड़, काशीराम सारण, जीवनराम मेघवाल, कुभाराम जाखड़, डूंगरराम बेनीवाल, छगनलाल चौधरी, मोहम्मद सलिम, रजाक खिलजी, जगदीश बिजारणिया, हजारीराम सारण आदि उपस्थित थे।
तारानगर. माकपा ने राष्ट्रव्यापी आह्वान के तहत मंगलवार को प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन देकर मांगों को निराकरण करने की मांग की। ज्ञापन में कार्यकर्ताओं ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन के चलते मध्यम व निचले वर्ग की आर्थिक स्थिति बहुत ही दयनीय हो गई है। इसलिए 6 माह तक गरीब व आयकर नहीं चुकाने वाले परिवारों को प्रतिमाह 7500 रुपए देनेए सभी राशन कार्ड धारकों को प्रति व्यक्ति 10 किलोग्राम अनाज देनेए बिजली.पानी के बिल माफ करने की मांग की। माकपा के जिला सचिव निर्मल प्रजापतए उमराव सहारणए अशोक शर्माए विक्रम सोनीए पूर्णाराम सरावगए महेन्द्र पूनिया तथा किशन शर्मा आदि ज्ञापन देने वालों में शामिल थे।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned