Meeting- क्यों पंचायत समिति के सभागार में हुई नगर परिषद की बैठक

सुजानगढ़. यहां नगर परिषद की बैठक पंचायत समिति के सभागार में करनी पड़ी। इसका कारण कि नगर परिषद कार्यालय में बैठक करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है, ना हॉल है और ना बड़ा कमरा। इस बैठक में नगरपरिषद ने 14 करोड़ 33 लाख रुपए बचत (लाभ) का वर्ष 2020-21 का बजट पारित किया गया।

Vijay

18 Feb 2020, 12:42 PM IST

152 करोड़ 34 लाख 5 हजार का बजट पारित
सुजानगढ़. यहां नगर परिषद की बैठक पंचायत समिति के सभागार में करनी पड़ी। इसका कारण कि नगर परिषद कार्यालय में बैठक करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है, ना हॉल है और ना बड़ा कमरा। इस बैठक में नगरपरिषद ने 14 करोड़ 33 लाख रुपए बचत (लाभ) का वर्ष 2020-21 का बजट पारित किया गया।
सभापति सिकन्दर अली खिलजी की अध्यक्षता में पहली बार पंचायत समिति के सभागार में साधारण सभा की बैठक हुई क्योंकि वर्तमान नगरपरिषद कार्यालय में बैठक के लिए उपयुक्त कक्ष नहीं है। आयुक्त बसन्तकुमार सैनी ने बताया कि 152 करोड़ 34 लाख 5 हजार रुपए का बजट पारित हुआ है। सैनीे के अनसार रोशनी पर 213 लाख रुपए, विकास कार्यों पर 1173 लाख रुपए, नवीन सम्पतियां खरीद पर 409 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे जबकि करों से 1012 लाख, विभिन्न अधिनियमों से 545 लाख, सम्पतियों से 133 लाख रुपए, विविध से 290 लाख रुपए, सहायता व अनुदान से 119 करोड़ 6 लाख रुपए मिलने का अनुमान लगाया गया है।

पार्षद ने जताई छह माह की अग्रिम वसूली पर आपत्ति
पार्षद तनसुख प्रजापत ने घरों से 15 रुपए प्रतिमाह की दर से 6 माह का अग्रिम वसूली पर आपत्ति की और कहा कि बकाया की एक साथ वसूली जा सकती है। तब आयुक्त ने कहा कि लोग स्वेच्छा से दे रहे हैं। गणेश मण्डावरिया ने आरोप लगाया कि पुलिस में मामला दर्ज कराने की धमकियां देकर वसूली करना अनुचित है। सदस्यों ने कहा कि इसे लेकर बाजार बंद हुए, इसलिए इसे रोका जाए। सभापति ने कहा कि सरकार के निर्देश पर हो रहा है। तनसुख ने पुलिस थाने व पुराने भवन की जगह नई योजना बनाने की मांग की। सभापति ने योजना बनाने का भरोसा दिलाया। पार्षद श्यामनारायण राठी ने बजट को हकीकत से दूर व काल्पनिक बताया और कहा कि फर्नीचर खरीद के लिए वर्ष 19-20 में 50 लाख रुपए का प्रावधान रखा लेकिन न गत व न इस वर्ष में एक रुपए खर्च किया फिर साढ़े 57 लाख रुपए का प्रावधान रखना यही साबित करता है।
पार्षद पवन माहेश्वरी ने दिशा ***** बोर्ड/संकेतक लगाने के 5 लाख रुपए के प्रावधान पर अब तक कुछ खर्च न करने की बात कही और कहा कि उपयुक्त जगहों पर संकेतक लगाने चाहिए। माहेश्वरी ने वाचनालय रविवार को भी खोलने का सुझाव दिया। राजेन्द्र गिडिय़ा ने गींदड़ आयोजन पर आर्थिक मदद की मांग की। बैठक में सीवरेज कार्य में सड़के तोडऩे के बाद ठीक न कराने, एलईडी बल्व चुराने, अवैध व्यवसायिक निर्माण, सौर ऊर्जा संयत्र लगाने, हाईमास्क लाईट लगाने, सफाईकर्मियो के रिक्त पदो पर भर्ती करने, नये पद बढ़ाने की मांग की गई। चर्चा में पार्षद बजरंगलाल सांखला, गोपाल राखेचा, अमित मारोठिया, इकबालखां, श्यामलाल गोयल ने भी भाग लिया।

स्पीड ब्रेकर पर उलझे
परिषद की ओर से शहर में खास जगहों पर लगाऐ गए स्पीड ब्रेकरों को लेकर पार्षद गणेश मण्डावरिया ने ब्रेकर लगाने, इसके मापदंड, भुगतान व कहां-कहां लगाने की जानकारी मांगी तो उपसभापति बाबूलाल कुलदीप आक्रोशित हो गए। इस पर प्रतिपक्ष नेता बुद्धिप्रकाश सोनी ने कहा कि नियमों के अनुसार जानकारी सदन के पटल पर मांगी जा सकती है तभी सत्तापक्ष के दो पार्षद टोका टोकी करने लगे। करीब 10 मिनट तक हो-हल्ला व हंगामा होता रहा। सभापति खिलजी की समझाईश का तत्काल असर नहीं हुआ, बाद में शांत हुए।
प्रतिपक्ष नेता की पीड़ा
भाजपा नगर अध्यक्ष व प्रतिपक्ष नेता बुद्धिप्रकाश सोनी की पीड़ा यह थी कि केन्द्र सरकार की अमृत योजना में बने ग्रीन स्पेस (नाथो तालाब पार्क) के उद्घाटन में सांसद राहुल कस्वा को आमन्त्रित तक नहीं किया जाता और सांसद कोष से राशि की उपेक्षा की जाती है। पार्षद उषा बगड़ा ने पार्क में पियक्कड़ो के जमघट रहने पर आपत्ति की व रोकने की मांग की।

Vijay Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned