विद्यार्थी ले सकेंगे फ्री मूक कोर्स का लाभ

राजस्थान के राजकीय एवं निजी महाविद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए खुश खबरी है। अब विद्यार्थियों में क्षमता विकास, रोजगारपरक अतिरिक्त कौशल एवं ज्ञान संवद्र्धन के लिए तैयार किया जाएगा।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 18 Oct 2020, 11:42 AM IST

चूरू. राजस्थान के राजकीय एवं निजी महाविद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए खुश खबरी है। अब विद्यार्थियों में क्षमता विकास, रोजगारपरक अतिरिक्त कौशल एवं ज्ञान संवद्र्धन के लिए तैयार किया जाएगा। इसके लिए कॉलेज शिक्षा विभाग राजस्थान ने भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपल आईटी) कोटा के साथ एक एमओयू किया है। ट्रिपल आईटी की ओर से राजस्थान के इन विद्यार्थियों के लिए मूक कोर्स डिजाइन करवाया जा रहा है जो भाषात्मक दृष्टि से यहां के विद्यार्थियों के लिए सरल एवं सहज होंगे।
इसलिए किया ऐसा
कोरोना महामारी के कारण अभी महाविद्यालयों में आकर पढने की व्यवस्था आरम्भ नहीं हुई है। ऐसे में विद्यार्थी विभाग की ओर से उपलब्ध कराए जा रहे ई-कन्टेंट के माध्यम से पढ़ रहे हैं, लेकिन उनके समय का सदुपयोग अतिरिक्त दक्षता अर्जित करने के लिए उपयुक्त कोर्स उपलब्ध करवाकर भी करवाया जा सकता है। इससे उन्हें एक साथ डिग्री और कई सर्टीफिकेट्स मिल सकेंगे।
12 लाख विद्यार्थी होंगे लाभान्वित
प्रदेश में 332 राजकीय एवं 1778 निजी महाविद्यालय संचालित हैं, जिनमें 12 लाख से अधिक विद्यार्थी पढ़ते हैं। ये विद्यार्थी मूक कोर्सेज का लाभ उठा सकते हैं। इसी कड़ी में विभाग की ओर से ट्रिपल आईटी कोटा के साथ मिलकर विद्यार्थी हित में इन कोर्सेस के लिए एमओयू किया है।
इसी सत्र से उपलब्ध होंगे ये कोर्स
जानकारी के अनुसार राजकीय महाविद्यालयों के साथ-साथ निजी महाविद्यालयों में पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए इस प्रकार की पहली योजना कॉलेज शिक्षा विभाग की ओर से शुरू की जा रही है। इससे सभी महाविद्यालयों में पढ़ रहे विद्यार्थी लाभान्वित हो सकेंगे। यह कोर्स इसी सत्र से विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध करवाए जाएंगे।
छह से आठ सप्ताह लगेंगे
इस योजना के तहत प्रत्येक कोर्स लगभग 6-8 सप्ताह एवं 30-36 मॉड्यूल्स का होगा। सभी विद्यार्थियों के लिए ये कोर्स पूर्णत: नि:शुल्क होंगे। इसके लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा।
विकसित होगी अतिक्ति दक्षता
इन कोर्सेेस के माध्यम से विद्यार्थियों में अतिरिक्त दक्षता विकसित होगी और उन्हें डिग्री कोर्स के साथ साथ अतिरिक्त योग्यता प्रमाण-पत्र लेने का अवसर मिलेगा।

प्रारंभिक चरण में ये कोर्स होंगे शुरू

जानकारी के मुताबिक इस एमओयू के अन्तर्गत उपलब्ध करवाए जाने वाले कोर्सेस में प्रारंभिक चरण में आरंभिक कम्प्यूटर, एडवांस कम्प्यूटर, मशीन लर्निंग, साइबर सिक्योरिटी, एनीमेशन एवं ग्राफिक्स, डाटा एन्ट्री, स्पोकन इंग्लिश एंड कम्यूनिकेशन स्किल्स जैसे कोर्स चयनित किए गए हैं।
बाइडेन नेटवर्क सरबिया यूरोप के साथ समझौता
एमओयू कार्यक्रम में ट्रिपल आईटी कोटा के निदेशक प्रो. उदय आर. यारागट्टी ने बताया कि इन कोर्सेस को बनाने के लिए बाइडेन नेटवर्क सरबिया यूरोप के साथ भी एमओयू किया है। लाभार्थी वर्ग में राज्य के कॉलेज शिक्षा विभाग बड़ी भूमिका में रहेगी। कोर्स समाप्ति पर इनका मूल्यांकन एवं प्रमाण-पत्र आदि सभी कार्य ऑनलाइन ही रहेंगे।

कॉलेज शिक्षा की ओर से यह अपने आप में पहली योजना है। इसका लाभ विद्यार्थी उठा सकेंगे। इसके माध्यम से विद्यार्थियों की स्किल भी मजबूत होगी। इसके लिए एमओयू कर लिया गया है।
संदेश नायक, आयुक्त कॉलेज शिक्षा, जयपुर

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned