दबंग दिखने के लिए युवाओं ने अपनाया ये तरीका

चूरू. शौक लगातार बढ़ रहा है।

manish mishra

February, 1512:24 PM

चूरू. भीड़ से कुछ अलग दिखने की चाह हर किसी व्यक्ति को होती है, लेकिन इसके लिए जिले में युवा वर्ग (youth in crime news) गलत रास्ते पर चलकर भविष्य को बर्बाद करने में लगे हैं। पिछले कुछ महिनों में दबंग दिखने के चक्कर में अवैध हथियार (illegal wepon) रखने का शौक लगातार बढ़ रहा है। पुलिस मामलों में काफी गंभीर व सावचेत है, ऐसे में लगातार कार्रवाई करते हुए हवालात की सैर करवा चुकी है।

सूत्रों की माने तो अपराधिक प्रवृत्ति के अलावा युवा वर्ग रूपहले पर्दे की चकाचौंध से प्रभावित हो रहा है।फिल्मों में अपने पसंदीदा हीरो को पिस्तौल लेकर भीड़-भाड़ में चलते देखकर स्वयं को दबंग व अलग दिखाने की चाह में अवैध हथियार रखने लगते है।

इन अवैध हथियारों (wepon) के कारण पुलिस की गिरफ्त में आ जाते हैं। नौकरी के समय थाने में दर्ज मामला भविष्य के लिए खतरा बन जाता है।जानकारों की माने तो इसके पीछे और भी अधिक कारण हैं। इसमें एक मोटा कारण मध्यमवर्ग के परिवारों की आर्थिक स्थिति का मजबूत होना भी शामिल है। ऐसे में हथियार को रखना स्टेटस सिम्बल समझने लगे हैं।अवैध हथियारों के लिए छोटे-छोटे दलालों से सम्पर्क करते हैं। जो कि तीन से दस हजार की मामूली राशि लेकर मांग पूरी कर देते हैं।

हरियाणा, यूपी व एमपी में सक्रिय सप्लायर
पुलिस सूत्रों की माने तो अवैध हथियारों की सप्लाई हरियाणा, उत्तरप्रदेश व मध्यप्रदेश से हो रही है।इन राज्यों में ऐसे कई अवैध ठिकाने हैं, जहां पर चोरी-छिपे हथियार बनाकर राजस्थान में दलालों (wepon smuggler) के मॉर्फत बेचे जा रहे हैं।सूत्रों की माने तो अवैध भट्टियों पर तैयार देसी हथियारों की क्वालिटी काफी खराब होती है। ऐसे में कई बार देशी कट्टा फटने आदि से जख्मी होने के मामले भी सामने आ रहे हैं।

चूरू एसपी ने बनाई टीम
चूरू (churu crime news) एसपी तेजस्वनी गौतम की ओर से इस वर्ष अवैध हथियारों की धरपकड़ को प्राथमिकताओं में शामिल किया गया है। फेसबुक पर हथियारों के साथ पोस्ट सहित हथियार डालने वालों पर कार्रवाई के लिए जिला पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। वर्ष 2019 की बात करें तो पुलिस ने आम्र्स एक्ट में 43 मामले दर्ज कर कुल 47 लोगों को गिरफ्तार किया।आरोपियों के कब्जे से 10 पिस्टल, 22 देसी कट्टे, चार बंदूक, छह मैगजीन, तीन तलवार, एक कटार सहित असला बनाने की सामग्री को जब्त किया गया।


इनका कहना है...
हथियार रखने का चलन कुछ बढ़ा है, निगरानी के लिए विशेष टीम गठित कर गिरफ्तारियां की है।अवैध हथियारों की सप्लाई हरियाणा व मध्यप्रदेश से हो रही है, इस संबंध में संबंधित राज्यों के जिला पुलिस अधिकारियों से वार्ता कर कार्रवाई के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
तेजस्वनी गौतम, पुलिस अधीक्षक चूरू।

ताजा खबरें जानने के लिए क्लिक करें...

manish mishra Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned