कोयम्बत्तूर में 314 लोग आइसोलेशन में

नगर निकाय मंत्री एसपी वेलुमणि ने कहा है कि कोरोना से घबराने की नहीं सतर्कता की जरूरत है। अभी तक जिले में 314 लोगों को घरों पर ही आइसोलेशन में रख ागया है। उनकी निगरानी की जा रही है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए ईएसआई अस्पताल में ५४० बेडहैं।

कोयम्बत्तूर. नगर निकाय मंत्री एसपी वेलुमणि ने कहा है कि कोरोना से घबराने की नहीं सतर्कता की जरूरत है। अभी तक जिले में 314 लोगों को घरों पर ही आइसोलेशन में रख ागया है। उनकी निगरानी की जा रही है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए ईएसआई अस्पताल में ५४० बेडहैं। इसके अलावा निजी अस्पतालों में १०० बेड सुरक्षित रखने को कहा गया है। मंत्री ने बुधवार को अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में निर्देश दिए कि लॉक डाउन की पूरी पालना हो, हर हाल में जरूरत मंदों तक भोजन पहुंचना चाहिए। बाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि जिले में युद्धस्तर पर निवारक उपाय किए जा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि करुवाथमपट्टी क्षेत्र के बनाए गए जांच केन्द्र में अब तक संयुक्त अरब अमीरात और शारजाह से आए 546 यात्रियों की जांच की गई है । किसी में कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं। उन्होंने बताया कि जिले के आठ सरकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में 240 बेड तैयार हैं। शहर में आठ डिसपेंसरियों पर पर 39 चिकित्सा दल चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। अब तक कोयम्बत्तूर में 97 लोगों की कोरोना वायरस जांच की गई। इनमें दो पॉजिटिव मिले है। 27 लोगों की जांच रिपोर्ट मिलनी है। लंबित हैं। सभी बस स्टेशनों और सार्वजनिक स्थानों पर कीटाणुनाशक का छिड़काव किया जा रहा है। महिला स्व-सहायता समूहों व कोयम्बत्तूर जेल में कैदी फेस मास्क बनाने में जुटे हैं। राशन की दुकानों पर टोकन सिस्टम के माध्यम से सामान दिया जाएगा।

brajesh tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned