हाउसिंग बोर्ड के जर्जर मकानों में रहने को मजबूर960  परिवार

डीएमके विधायक एन.कार्तिक ने कहा है कि सिंगनाल्लूर में हाउसिंग बोर्ड के मकानों की हालत जर्जर है। हादसे से पहले सरकार यहां नए मकान बनाए। फिलहाल हाउसिंग बोर्ड की बहुमंजिली कॉलोनी में 960 परिवार रह रहे हैं।

By: Dilip

Updated: 08 Dec 2019, 01:09 PM IST

कोयम्बत्तूर. डीएमके विधायक एन.कार्तिक ने कहा है कि सिंगनाल्लूर में हाउसिंग बोर्ड के मकानों की हालत जर्जर है। हादसे से पहले सरकार यहां नए मकान बनाए। फिलहाल हाउसिंग बोर्ड की बहुमंजिली कॉलोनी में 960 परिवार रह रहे हैं। शनिवार को कॉलोनी में पहुंचे विधायक ने मकानों की हालत देखी। यहां के रहवासियों ने बताया कि कॉलोनी का निर्माण 35  साल पहले किया गया था। उन्होंने पूरी राशि दे कर मकान लिए हैं। इनकी हालत अब जर्जर हो चुकी है। अब इनकी मरम्मत कराने से कोई फायदा नहीं। फ्लैटों को ढहा कर राज्य सरकार इसी जमीन पर उन्हें नए मकान बना कर दे। नागरिकों ने बताया कि उन्हें पता है मकान खतरनाक हैं,पर वे कहां जाएं। इसलिए इन्हीं में रहने को मजबूर हैं। विधायक ने बताया कि वे इस मामले को विधानसभा में उठा चुके हैं। जब तक सरकार यहां नए मकान नहीं बनाती । वे चुप नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गरीबों को मकान बना रही है। इस कॉलोनी को भी इसी योजना में शामिल किया जाना चाहिए।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned