आरोपी गिरफ्तार, गुनाह कबूला

जांच में लापरवाही पर निलम्बित किया जा चुका है पुलिस निरीक्षक - शराबखोरी किस तरह धीरे-धीरे अपराध की ओर ले जाती है। इसकी पुष्टि पुलिस की गिरफ्त में आए सेंथिल कुमार के बयानों से हुई।शराब के आदी सेंथिल के पास जब पैसे नहीं थे तो उसने गहनों के लिए एक वृद्धा की हत्या कर दी।

By: Dilip

Updated: 03 Dec 2019, 02:16 PM IST

कोयम्बत्तूर. शराबखोरी किस तरह धीरे-धीरे अपराध की ओर ले जाती है। इसकी पुष्टि पुलिस की गिरफ्त में आए सेंथिल कुमार के बयानों से हुई।शराब के आदी सेंथिल के पास जब पैसे नहीं थे तो उसने गहनों के लिए एक वृद्धा की हत्या कर दी।
पुलिस के अनुसार घटनाक्रम १८ जून का है। सुलिवन रोड स्थित अपने मकान में रंगनायगी (8 0)पत्नी सुब्रमण्यम मृत मिली। खबर मिलने पर वैरायटी हॉल रोड थाने से पुलिस मौके पर पहुंची व संदिग्धावस्था में मौत का मामला दर्ज किया।जांच पुलिस निरीक्षक सेंथिल कुमार को सौंपी गई। उन्होंने इसे सामान्य मौत मानते हुए अंतिम रिपोर्ट पेश कर दी। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तो पता लगा कि वृद्धा की मौत सामान्य नहीं थी। उसकी गला दबा कर हत्या की गई थी। मामला पुलिस के उच्चाधिकारियों तक पहुंचा तो मामले की जांच नए सिरे से करना तय हुआ।पुलिस आयुक्त बालाजी सरवनन की देखरेख में आरएस पुरम के पुलिस निरीक्षक धीवा सिगमनी को जांच सौंपी गई। विशेष टीम गठित की गई। आखिर घटना के पांच माह बाद आरोपी सेंथिल कुमार को गिरफ्तार किया गया।आरोपी निर्माण मजदूर है। प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपी ने कबूल किया कि शराब के लिए उसे पैसों की जरूरत थी। रंगनायगी घर में अकेली रहती थी।वृद्धा के पास गहनों की उम्मीद में १८ जून की रात गला दबा कर उसकी हत्या कर दी।सोमवार को आरोपी को अदालत में पेश किया गया जहां से उसे केन्द्रीय कारागार भेज दिया।
उल्लेखनीय है कि ३० नवम्बर को पुलिस आयुक्त सुमित शरण ने निरीक्षक सेंथिल को जांच में लापरवाही बरतने पर निलम्बित कर दिया था। इससे पहले भी सेंथिल को प्रवासी राजस्थानी युवक से देशी कट्टा और बुलेट मिलने के मामले की जांंच में लापरवाही पर निलम्बित किया जा चुका है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned