तिरुपुर में हिन्दू संगठन के पदाधिकारी पर हमला

कोयम्बत्तूर के बाद अब पड़ोसी तिरुपुर जिले में समाज मेंं विभेद पैदा करने की कोशिश शुरू हो गई है। मंगलवार रात तिरुपुर में एक हिन्दू संगठन के पदाधिकारी पर हमले की घटना से लोगों में रोष है।

By: Dilip

Published: 19 Mar 2020, 12:11 PM IST

कोयम्बत्तूर. कोयम्बत्तूर के बाद अब पड़ोसी तिरुपुर जिले में समाज मेंं विभेद पैदा करने की कोशिश शुरू हो गई है। मंगलवार रात तिरुपुर में एक हिन्दू संगठन के पदाधिकारी पर हमले की घटना से लोगों में रोष है। सूत्रों के अनुसार हमला हिन्दू मक्कल कांची के तिरुपुर उत्तर के उप प्रमुख भगवान नंदू पर किया गया। नंदू की कनकमपालयम में इलेक्ट्रिक सामान की दुकान है। मंगलवार रात दुकान बंद कर वे घर लौट रहे थे। इसी दौरान बाइकों पर आए सात लोगों ने नंदू को घेर लिया। उन्होंने नंदू को धमकाया और धारदार हथियार से हमला कर दिया। नंदू के सहायता के लिए चिल्लाने पर लोग आए तो हमलावर वहां से भाग निकले। बाद में उन्हें अस्पताल में ले जाया गया। हिन्दू संगठन के पदाधिकारी पर हमले की खबर आग की तरह फैल गई। बड़ी संख्या में लोग अस्पताल पहुंच गए। पुलिस भी तत्काल मौके पर पहुंच लोगों को समझा बुझा कर शांत किया। पेरुनामल्लूर थाना पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्जकर उनकी तलाश शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि पांच दिन पहले ही केरल से समाजकंटकों के एक गिरोह की कोयम्बत्तूर व आसपास के जिलों में आने की खबर मिली थी।

पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार गिरोह दो समुदायों के बीच माहौल खराब करने के लिए संगठनों व राजनीतिक दलों को निशाना बना सकते है। तिरुपुर में भी पुलिस सतर्क है । वहां सीएए के विरोध में एक माह से भी अधिक समय से मुस्लिम समुदाय आंदोलन कर रहा है। शनिवार को ही रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ)की बटालियन ने कमांडर सिंगरावेलु के नेतृत्व में मार्च किया था। सश जवान शहर के विभिन्न हिस्सों में मार्च करते हुए पुराने बस स्टैण्ड पहुंचे थे। आरएएफ के साथ आंसू गैस छोडऩे वाले दो वाहनों के अलावा पुलिस उपायुक्त बद्रीनारायण के नेतृत्व में शहर पुलिस के जवान भी थे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned