आज कोयम्बत्तूर बंद का आह्वान ,१५०० पुलिसकर्मी तैनात

आज कोयम्बत्तूर बंद का आह्वान ,१५०० पुलिसकर्मी तैनात

By: Rahul sharma

Published: 07 Mar 2020, 11:08 AM IST

कोयम्बत्तूर. हिन्दू और मुस्लिम संगठनों ने अब शनिवार को
कोयम्बत्तूर बंद का आह्वान किया है। इससे पहले शुक्रवार को बंद का आह्वान किया था , जो देर रात स्थगित कर दिया गया। बंद को देखते हुए शहर में प्रशासन कड़ी चौकसी बरत रहा है। संवेदन शील इलाकों में १५०० पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।
पुलिस आयुक्त ने चेतावनी दी है कि यदि किसी भी हिंदू या मुस्लिम संगठन ने बाजार बंद करने के लिए दुकानदारों को मजबूर किया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने कहा कि यदि किसी ने कानून व्यवस्था को बाधित किया तो बख्शा नहीं जाएगा। बंद का आह्वान हिन्दू मुन्नानी ने किया है।संगठन का आरोप है कि
बुधवार की रात हिंदू मुन्नानी के जिला सचिव आनंद पर नंदुंडपुरम में अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया था। उसी दिन एक अन्य घटना में कुछ बदमाशों ने गणपति में एक धर्मस्थल परें पेट्रोल बम फेंका गया। इन दोनों घटनाओं से तनाव के हालात हो गए थे। हालांकि पुलिस ने दोनों मामलों में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन विशेष टीमों का गठन किया और इलाके में गश्त बढ़ा दी थी।हिंदू मुन्नानी ने अपने पदाधिकारी पर हमले की निंदा करते हुए बंद का आह्वान किया है। वहीं धर्मस्थल पर पेट्रोल बम फेंकने के विरोध में मुस्लिम संगठन एसडीपीआई और पीएफआई ने बंद का आह्वान किया है। दोनों संगठनों ने गणपति इलाके में हुई घटनाओं के लिए एक-दूसरे पर आरोप लगाए हैं। दोनों ने ही एक -दूसरे के आरोपों को गलत बताया है। प्रशासन ने पहले से ही शहर के धर्म स्थलों पर पुलिस तैनात कर दी है। शुक्रवार को प्रमुख चौराहों व संवेदनशील इलाकों में रैपिड एक्शन फोर्स के जवान गश्त पर रहे।

वालपराई में बंद रहीं दुकानें
कोयम्बत्तूर. हिंदू मुन्नानी के जिला सचिव आनंद पर हमले के विरोध में शुक्रवार को वालपराई में बाजार बंद रहे।ऐहतियात के तौर पर कस्बे में पूरे दिन पुलिस गश्त करती रही। सूत्रों ने बताया कि कस्बे में बंद का व्यापक असर रहा और
किराने की दुकानों से लेकर होटल, टी स्टाल सहित एक सौ से अधिक प्रतिष्ठान पूरे दिन बंद रहे। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रमुख स्थानों पोस्ट ऑफिस, बस स्टेशन , गांधी मंडपम परिसर व धर्मस्थलों पर पुलिस तैनात रही। हालांकि बसें, टैक्सी और ऑटो का संचालन जारी रहा।

Rahul sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned