सोशल मीडिया के जरिए भड़काने के मामले दर्ज, दो की तलाश

शहर में कानून व्यवस्था और शांति के लिए लगातार प्रयास कर रही पुलिस अब दो शख्सों की तलाश कर रही है, जो सोशल मीडिया के जरिए लोगों को भड़काने से बाज नहीं आ रहे। पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि कल्याणरमन नाम का शख्स सोशल मीडिया पर दावा कर रहा है कि शहर में साम्प्रदायिक हिंसा के हालात नजर आ रहे हंै।

By: Dilip

Published: 22 Mar 2020, 12:24 PM IST

कोयम्बत्तूर. शहर में कानून व्यवस्था और शांति के लिए लगातार प्रयास कर रही पुलिस अब दोशख्सों की तलाश कर रही है, जो सोशल मीडिया के जरिए लोगों को भड़काने से बाज नहीं आ रहे। पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि कल्याणरमन नाम का शख्स सोशल मीडिया पर दावा कर रहा है कि शहर में साम्प्रदायिक हिंसा के हालात नजर आ रहे हंै। तमिलनाडु में कुछ खतरनाक होने वाला है। पुलिस ने इसे लोगों के भड़काने की कार्रवाई मानते हुए कल्यारमण के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस इसकी तलाश में जुटी है। इसी तरह शाहजहां अब्दुल भी सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट से लोगों को उकसाने में जुटा है। उशकी पोस्ट सद्भाव को बिगाड़ सकती है। इस आधार पुलिस ने इसके खिलाफ भी मामला दर्ज करते हुए शाहजहां की तलाश शुरू कर दी है। शहर में इस माह सीएए के विरोध व समर्थन में किए गए आंदोलनों की वजह से माहौल बिगडऩे के आसार बन गए थे। यहां तक कि दो स्थानों पर पेट्रोल बम फेंके गए।

उल्लेखनीय है कि करीब 15 दिन पहले सप्ताह में शहर में दो समुदायों में विभेद पैदा करने की कोशिशें हुई थी। धर्मस्थल और हिन्दू संगठन के कार्यालय पर पेट्रोल बम फेंके गए। मुस्लिम और हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट हुई। एक दिन कोयम्बत्तूर बंद रहा। पुलिस महानिदेशक जेके त्रिपाठी ने कोयम्बत्तूर आ कर कानून -व्यवस्था की समीक्षा की थी। बाद में पुलिस को खुफिया रिपोर्ट मिली कि केरल से समाजकंटकों का गिरोह शहर में घुसने की तैयारी में है। घातक हथियारों से लैस गिरोह के निशाने पर समाज के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, राजनीतिक दलों के नेता, धर्मगुरु हैं। गिरोह का उद्देश्य कोयम्बत्तूर को अशांत करना है। इस खबर के बाद से ही पुलिस प्रशासन सतर्कहो गया। शहर में 2100 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned