कोरोना से बचाव के लिए दवा से बच्ची की हालत गंभीर

कोरोना से बचाव के लिए दवा से बच्ची की हालत गंभीर

कोयम्बत्तूर. कोरोना से बचने के लिए टोने -टोटके के बाद अब लोग खुद ही डॉक्टर बन कर दवा तक देने लगे हैं। ऐसा ही एक मामला मंगलवार को सामने आया जब एक शख्स ने अपनी चार साल की बेटी को हाइड्रोक्सी-क्लोरोक्वीन दवा की खुराक दे दी। दवा लेने के कुछ समय बाद बच्ची की तबीयत बिगड़ गई। हालत गंभीर होने पर उसे सरवन पट्टी के एक निजी अस्पताल में भर्तीकराया गया, जहां उसे आईसीयू में रखा गया है। बताया जाता है कि इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च द्वारा गठित राष्ट्रीय टास्क फोर्स ने कोविड-19 के निवारक दवा के रूप में हाइड्रोक्सी-क्लोरोक्वीन की सिफारिश की है, लेकिन साफ कहा गया है कि चिकित्सक के लिखने पर ही दवा दी जाए। पर बच्ची के पिता ने खुद ही मेडिकल स्टोर से दवा खरीदी और बच्ची को एक खुराक दे दी। थोड़ी ही देर में खुराक का असर शुरू हो गया। वह बैचेनी महसूस करने लगी और उसे उल्टी हुई तो पिता घबरा गया। तत्काल सरवनपट्टी में निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया। पता चला है कि लोग कोरोना निवारक दवा के रूप में हाइड्रॉक्सी-क्लोरोक्वीन की खरीद कर रहे हैं। मंगलवार को मेडिकल स्टोरों पर अन्य दिनों की बजाय भीड़ थी। आम तौर पर हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन का उपयोग मलेरिया के इलाज व रोकथाम के लिए किया जाता है। पर चिकित्सक की सलाह पर ही इसे लिया जाता है।

brajesh tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned