तिरुपुर में उद्योग पर संकट के बादल

श्रमिकों के पलायन का भी डर
तिरुपुर. तिरुपुर में लॉक डाउन से अब तक 150 से 200 करोड़ तक का विदेशी व्यापार प्रभावित हुआ है। फैक्ट्री संचालक व उद्यमी जो तिरुपुर सेवा समिति से भी जुड़े हैं। उनका कहना है कि सरकार को उद्योगों को पुन: सुचारु करने के लिए जल्द ही पैकेज का ऐलान करना चाहिए।

By: Dilip

Updated: 18 Apr 2020, 01:12 PM IST

तिरुपुर. तिरुपुर में लॉक डाउन से अब तक150 से 200 करोड़ तक का विदेशी व्यापार प्रभावित हुआ है। फैक्ट्री संचालक व उद्यमी जो तिरुपुर सेवा समिति से भी जुड़े हैं। उनका कहना है कि सरकार को उद्योगों को पुन: सुचारु करने के लिए जल्द ही पैकेज का ऐलान करना चाहिए। डॉलर सिटी कही जाने वाली तिरुपुर में पिछले करीब २२ दिनों से लॉक डाउन के कारण व्यापार ठप है। तिरुपुर में हॉजरी व टैक्सटाइल उद्योग के साथ नामी कंपनियों के टीशर्ट हब है जहां से देश विदेश में सप्लाई होती है। तिरुपुर सेवा समिति पदाधिकारियों का कहना है कि कोरोन संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन से उद्योग धंधे चौपट होने की कगार पर हैं। उद्योग को संजीवनी देने के साथ सरकार को श्रमिकों के लिए भी विशेष पैकेज का ऐलान करना चाहिए। जो श्रमिक फंसे हैं उन्हें समुचित सहायता या जरुरी होने पर घर तक ले जाने व पुन: कार्य स्थल तक पहुंचाने की व्यवस्था करना चाहिए।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned