मकान मालिक की गिरफ्तारी की मांग

नाद्दूर गांव में सोमवार की सुबह लोगों की नींद बुरी खबर सुनने के साथ खुली। तडके साढ़े पांच बजे गांव के तीन मकानों के ऊपर भरभरा कर दीवार गिरी तो आवाज सुन कर अनहोनी की आशंका में घबराए हुए पड़ोसी तत्काल घरों से निकले।

 

By: Dilip

Published: 03 Dec 2019, 06:05 PM IST

कोयम्बत्तूर.नाद्दूर गांव में सोमवार की सुबह लोगों की नींद बुरी खबर सुनने के साथ खुली। तडके साढ़े पांच बजे गांव के तीन मकानों के ऊपर भरभरा कर दीवार गिरी तो आवाज सुन कर अनहोनी की आशंका में घबराए हुए पड़ोसी तत्काल घरों से निकले। बाहर आकर देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई।मोहल्ले के तीन केलूपोश मकानों पर पास ही करीब १० फीट दीवार गिरी पड़ी थी।मकानों के बड़े हिस्से मलबे में दबे हुए थे। मलबे में से चीख-पुकार की आवाजें आ रही थी। पड़ोसियों ने पुलिस को फोन कर तेजी से मलबे को हटाना शुरु किया।

घटना से नाराज गांव वालों ने मकान मालिक को कम•ाोर दिवारें बनाने के जुर्म में गिरफ्तार करने की मांग की। यही नही मृतकों के परिवार वालों को 4 लाख नहीं, बल्कि 25 लाख मुआव•ो की मांग व उसी परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की है। इन बातों को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का दावा करते हुए वेस्ट जोन अईजी पेरिअईया ने गांव को दिलासा दी है।

ऊटी में ठंड बढ़ी
बारिश होने के साथ ऊटी और नीलगिरि पहाड़ी क्षेत्र में जमकर ठंड पडऩे लगने है। ठंड बढऩे के कारण लोगों को कर्म कपड़े निकालने पड़े। वहीं बारिश और ठंड के कारण पर्यटकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। पर्यटक होटलों में ही कैद रहे। अधिकतर पर्यटन स्थलों पर कीचड़ और पानी भरा होने के कारण वहां तक पहुंचना मुश्किल रहा।

कोयम्बत्तूर में खुला रहा मौसम
नीलगिरि और मेट्टूपालयम में जहां रविवार रात मूशलाधार बारिश हो रही थी वहीं कोयम्बत्तूर में रात को बादल छाए रहे। रविवार की रात कोयम्बत्तूर में कुछ देर के लिए रिमझिम बारिश हुई। इसके बाद सोमवार को भी बादल आते जाते रहे और दोपाहर बाद मौसम खुलजाने से कुछ देर के लिए धूप निकली।

मकान मालिक की गिरफ्तारी की मांग
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned