अवैध कब्जों में गुम हो गई लवडेल की बर्नफुट लेक

अवैध कब्जों में गुम हो गई लवडेल की बर्नफुट लेक
Foysagar Lake : झील का हो पुनरूद्धार तो फिर से बने पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र

Dilip Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 12:56:19 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

नीलगिरि जिले के लवडेल कस्बे की शान रही बर्नफुट लेक लगभग लापता हो चुकी है। इसे साजिशन मिटा दिया गया है। इसे पुुनर्जीवित करने के लिए अदालत की शरण लेनी होगी।

कोयम्बत्तूर. नीलगिरि जिले के लवडेल कस्बे की शान रही बर्नफुट लेक लगभग लापता हो चुकी है। इसे साजिशन मिटा दिया गया है। इसे पुुनर्जीवित करने के लिए अदालत की शरण लेनी होगी।
यह बात शुक्रवार को सामाजिक कार्यकर्ता ऐलीफेन्ट राजेन्द्रन ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने बताया कि प्रकृति के उपहार लवडेल के बारे में 1908 में प्रकाशित गजट में बर्नफुट लेक की जानकारी थी। उस समय तक झील का अस्तित्व था। लेकिन पिछले कुछ दशकों में धीरे-धीरे झील को साजिशन मिट्टी से भर दिया गया। इसकी जमीन पर कब्जे हो गए। उन्होंने आरोप लगाया कि झील की जमीन पर बोरवैल खुदवा कर पीने के पानी का कारोबार हो रहा है। उन्होंने प्रशासन पर आरोप लगाया कि जमीन पर कब्जे के दौरान जिम्मेदार अधिकारी चुप्पी साधे रहे।
राजेन्द्रन ने कहा कि झील की जमीन से कब्जे हटाकर इसे पुनजीर्वित करने की जरूरत है। वे इसके लिए जनता को जागरूक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही मद्रास हाईकोर्ट में याचिका दायर की जाएगी।
उन्होंने कहा कि नीलगिरि जिले में हाथी कॉरिडोर से अब तक ६५ रिजॉर्ट बंद किए गए हैं। प्रशासन पहले तो इनकी अनदेखी करता रहा मगर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने आरोप लगाया कि अब भी कई रिजॉर्ट नियमों के विपरीत संचालित हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned