200 करोड़ रुपए का विदेशी व्यापार प्रभावित

सभी कोरोना वॉरियर्स को सलाम करते हैं। जिन्होंने अपने परिवार व खुद की परवाह नहीं करते हुए दिन रात संक्रमितों के ईलाज में लगे हैं। चिकित्सक, मेडिकल स्टाफ, पुलिस, सफाई कर्मचारी व अन्य जरूरी सेवा के लोगों की हौसला अफजाही जरूरी है। तिरुपुर सेवा समिति के पदाधिकारियां ने बताया कि समिति अपने स्तर पर श्रमिकों का संरक्षण कर रही है लेकिन सरकार से बड़े राहत की उम्मीद है।

By: Dilip

Published: 18 Apr 2020, 01:25 PM IST

तिरुपुर. तिरुपुर में लॉक डाउन से अब तक 150 से 200 करोड़ तक का विदेशी व्यापार प्रभावित हुआ है। फैक्ट्री संचालक व उद्यमी जो तिरुपुर सेवा समिति से भी जुड़े हैं। उनका कहना है कि सरकार को उद्योगों को पुन: सुचारु करने के लिए जल्द ही पैकेज का ऐलान करना चाहिए।
उद्यमियों की चिंता
सभी कोरोना वॉरियर्स को सलाम करते हैं। जिन्होंने अपने परिवार व खुद की परवाह नहीं करते हुए दिन रात संक्रमितों के ईलाज में लगे हैं। चिकित्सक, मेडिकल स्टाफ, पुलिस, सफाई कर्मचारी व अन्य जरूरी सेवा के लोगों की हौसला अफजाही जरूरी है। तिरुपुर सेवा समिति के पदाधिकारियां ने बताया कि समिति अपने स्तर पर श्रमिकों का संरक्षण कर रही है लेकिन सरकार से बड़े राहत की उम्मीद है।
संपत पित्ती, अध्यक्ष तिरुपुर सेवा समिति

तिरुपुर में टी शटर््स हब को खासा नुकसान हुआ है। कई पेशेवर तकनीकी कर्मचारी व श्रमिक घर पहुंचना चाहते हैं। सरकार को उनकी व्यवस्था करनी होगी। अन्यथा इनका पुन: काम पर लौटना मुश्किल होगा ही वह बेरोजगार भी हो सकते हैं।
देवराज सिंह उपाध्यक्ष

व्यापार को पटरी पर आने में अब कम से कम दो वर्ष का समय लगेगा। उत्पादन भी घटेगा। मांग नहीं होने पर ऑर्डर नहीं आएंगे जिससे उद्योग को सुचारू रखना एक टेढ़ी खीर होगी।
शशी प्रकाश अग्रवाल, उपाध्यक्ष

समिति अन्य जरुरतों में भी प्रवासी सहित सामाजिक व धार्मिक गतिविधियोंं में भी आगे रहती है। अभी संकट की घड़ी में सिर्फ जरुरतमंदों की सेवा में समिति पदाधिकारी जुटे हैं।
उषा अग्रवाल सचिव

200 करोड़ रुपए का विदेशी व्यापार प्रभावित200 करोड़ रुपए का विदेशी व्यापार प्रभावित200 करोड़ रुपए का विदेशी व्यापार प्रभावित
Dilip Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned