जीवन में प्रेम आवश्यक

जीवन में प्रेम आवश्यक
जीवन में प्रेम आवश्यक

Dilip Sharma | Updated: 20 Sep 2019, 12:14:35 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

प्रेम जीवन का दर्पण है। जिसके जीवन में प्रेम नहीं, उसके जीवन में परमात्मा में आने की संभावना नहीं है। परमात्मा की प्राप्ति के लिए मनुष्य के कण कण में प्रेम का होना अति आवश्यक है।

ऊटी. प्रेम जीवन का दर्पण है। जिसके जीवन में प्रेम नहीं, उसके जीवन में परमात्मा में आने की संभावना नहीं है। परमात्मा की प्राप्ति के लिए मनुष्य के कण कण में प्रेम का होना अति आवश्यक है। प्रेम व्यवहार से ही सुख शांति और समृद्धि की प्राप्ति होती है। प्रेम व्यवहार से माता-पिता व परमात्मा का आशीर्वाद संभव है।
ये बातें जैन साध्वी अमीसाश्री ने ooty जैन आराधना भवन में चातुर्मास के दौरान धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहीं। हजारोंं साल बाद भी भगवान महावीर, बुद्ध, नानक, श्रीराम, हनुमान,यीशु, पैगम्बर मोहम्मद के चरणों में लोग नतमस्तक होते हैं, उनकी वाणी को याद करते हैं। उन्होंने कहा कि पहले जीवों में प्रेम था। घर परिवार में प्रेम की बातें, व्यवहार व प्रेम की आशा रहा करती थी। भाई-बहन, पिता-पुत्र, गुरू-शिष्य के प्रेम की भांति देशप्रेम भी होना चाहिए। यही महापुरुषों की वाणी है। प्रेम व्यवहार से माता-पिता व परमात्मा का आशीर्वाद संभव है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned