अपहृत बच्चा मिला, दम्पती हिरासत में

शहर के सरकारी अस्पताल से एक बच्चे के अपहरण के मामले में पुलिस ने तिरुपुर के दम्पती को हिरासत में लिया है। आरोपी नि:संतान है। वारदात के बाद 24 घंटे में बच्चा सकुशल मिलने पर उसके माता-पिता की आंखों से खुशी के आंसू निकल पड़े।

By: Dilip

Published: 15 Jun 2020, 02:25 PM IST

कोयम्बत्तूर. शहर के सरकारी अस्पताल से एक बच्चे के अपहरण के मामले में पुलिस ने तिरुपुर के दम्पती को हिरासत में लिया है। आरोपी नि:संतान है। वारदात के बाद २४ घंटे में बच्चा सकुशल मिलने पर उसके माता-पिता की आंखों से खुशी के आंसू निकल पड़े।रेसकोर्स पुलिसके अनुसार आरोपी विग्नेश और उसकी पत्नी प्रभाती है।

पता लगा है कि उन्होंने कुछ दिनों पहले जुड़वां बच्चों के पिता सेल्वम और सेल्वरानी के साथ जान पहचान बढ़ाई थी। बच्चों के माता पिता तिरुपुर में ही एक गारमेंट फैक्ट्री में काम करते थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से बेरोजगार थे। वे अपने दोनों बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बवनावा चाहते थे। इसमें प्रभाती ने सहयोग की पेशकश की और बच्चों के माता पिता के साथ आरोपी दम्पती भी कोयम्बत्तूर आ गए थे। शुक्रवार को चारों जुड़वा बच्चों के साथ सीएमसीएच पहुंचे। विग्नेश ने सेल्वम को शहर के रेलवे स्टेशन पर नौकरी के बारे में पूछताछ करने के लिए भेजा और फिर ज़ेरॉक्स की दुकान पर चला गया। इस बीच प्रभाती ने एक बच्चे को गोद में ले कर कहा कि वह इसका वजन कराके ला रही है, लेकिन वब बच्चे को लेकर गायब हो गई। जब विग्नेश और प्रभाती काफी देर तक नहीं लौटे तो सेल्वारानी ने रेस कोर्स पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस ने अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकलवाई। आरोपी दम्पती के मोबाइल नम्बर का पता लगाया व मोबाइल फोन के टावर लोकेशन को ट्रेस करके पुलिस दम्पती के ठिकाने तक पहुंच गई। उन्होंने बताया कि वे नि:संतान है और बच्चे को पालना चाहते थे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned