वकीलों ने नहीं किया अदालती कामकाज

वकीलों ने नहीं किया अदालती कामकाज
वकीलों ने नहीं किया अदालती कामकाज

Rahul sharma | Publish: Sep, 11 2019 03:00:08 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2019 03:00:09 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

मद्रास हाई कोर्ट की मुख्य न्यायाधीश वी के ताहिलरमानी के तबादले के विरोध में मंगलवार को कोयम्बत्तूर के वकीलों ने न्यायिक कार्य का बहिष्कार किया।

कोयम्बत्तूर. मद्रास हाई कोर्ट की मुख्य न्यायाधीश वी के ताहिलरमानी के तबादले के विरोध में मंगलवार को कोयम्बत्तूर के वकीलों ने न्यायिक कार्य का बहिष्कार किया। बाद में उन्होंने अदालत परिसर के सामने विरोध प्रदर्शन करते हुए सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम से तबादले को रद्द करने की मांग की। वकीलों ने आरोप लगाया कि मुख्य न्यायाधीश वी के ताहिलरमानी का मद्रास से मेघालय तबादला राजनीतिक कारणों से किया गया है। इसे तत्काल रद्द किया जाए। उल्लेखनीय है कि ताहिलरमानी के तबादले पर पुनर्विचार के अनुरोध को खारिज किए जाने पर उन्होंने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को अपना इस्तीफा भेज दिया था।

मजदूरों ने मांगी पेंशन
कोयम्बत्तूर. तिरुपुर में मंगलवार को बोझा ढोने वाले मजदूरों (हम्माल) ने कुमारन प्रतिमा स्थल पर प्रदर्शन कर पेंशन व न्यूनतम मजदूरी की मांग की। एटक के बैनर तले किए गए प्रदर्शन में हम्मालों ने कहा कि ५५ साल की उम्र पूरी कर चुके मजदूरों को छह हजार रुपए मासिक पेंशन दी जानी चाहिए,जिससे उन्हें वृद्धावस्था में दूसरों के रहमो-करम पर नहीं रहना पड़े। उन्होंने कहा कि हम्मालों को न्यूनतम बीस हजार रुपए महीने मजदूरी के रूप में दिए जाएं। हम्मालों ने कहा कि राज्य सरकार व केन्द्र सरकार उनकी मांगों पर गौर नही कर रही है। उन्होंने अपनी मांगों के समर्थन और केन्द्र व राज्य सरकार के खिलाफ नारे लगाए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned