करुमत्तमपट्टी में कोरोना आइसोलेशन सेन्टर का विरोध

करुमत्तमपट्टी में कोरोना आइसोलेशन सेन्टर का विरोध

By: brajesh tiwari

Updated: 19 Mar 2020, 10:17 AM IST


कोयम्बत्तूर. कोरोना वायरस का खौफ अब आम लोगों में असर करता जा रहा है। हालांकि अभी तक कोयम्बत्तूर में एक भी मामला सामने नहीं आया है।
लेकिन ऐहतियात के तौर पर शहर के बाहर एक कॉलेज में बनाए जा रहे आइसोलेशन सेन्टर व निगरानी केन्द्र का वहां की जनता ने तीव्रविरोध किया है। लोगों ने कलक्टर की कार को ही रोक लिया। सूत्रों के अनुसार शहर के बाहरी इलाके करुमत्तमपट्टी में एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज बंद पड़ा है। जिला प्रशासन ने यहां कोरोना के संदिग्घों को निगरानी में रखने के लिए पूरे कॉलेज को आइसोलेशन वार्ड के रूप में इस्तेमाल की योजना तैयार की। इसका उपयोग आपात स्थिति में होना है। इसकी भनक करुमत्तमपट्टी के लोगों को लग गई। वहां अफवाहों का दौर शुरू हो गया। उन्हें बताया जाने लगा कि यहां कोरोना रोगियों को रखा गया तो करुमत्तमपट्टी को लोग भी खतरे की जद में आएंगे। इसी भय के चलते लोगों ने जिला प्रशासन के फैसले का विरोध किया। मंगलवार को जब कॉलेज भवन में चल रहे आइसोलेशन के काम की प्रगति देखने जिला कलक्टर राजामणि पहुंचे तो इलाके के लोगों ने उनकी कार को रोक लिया। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थी। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन यहां के लोगों का जीवन खतरे में डालना चाहता है। वे किसी कीमत पर यहां आइसोलेशन व निगरानी केन्द्र नहीं बनने देंगे। जिला प्रशासन इसे और कहीं बनाए। लोगों को रोष को देखते हुए अधिकारियों ने उन्हें समझाया कि यहां लोगों को लाने की नौबत नहीं आएगी पर ऐहतियात के तौर पर ऐसी व्यवस्था करनी पड़ती है। शहर के अस्पतालों में ही पर्याप्त आइसोलेशन वार्ड है।

brajesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned