लॉकडाउन के लिए पुलिस को दिखानी पड़ी सख्ती

कोरोना से बचाव के लिए 21 दिन के लॉकडाउन के पहले दिन बुधवार को शहर के नजारे बदलते रहे। कई लोग बेपरवाह नजर आए और वे भोर फटने से पहले ही मार्निंग वॉक पर निकले। बचाव के लिए मुखपट्टी बांधी।

कोयम्बत्तूर. कोरोना से बचाव के लिए 21 दिन के लॉकडाउन के पहले दिन बुधवार को शहर के नजारे बदलते रहे। कई लोग बेपरवाह नजर आए और वे भोर फटने से पहले ही मार्निंग वॉक पर निकले। बचाव के लिए मुखपट्टी बांधी। सुबह छह बजे ये देखने के लिए भी लोग सड़क पर आए कि चाय की दुकान खुली है या नहीं। कई चहलकदमी करते हुए बूथों पर दूध लेने पहुंचे। बाद में किराने की दुकान को भी देखा गया कि वे खुली थी। इसके बाद जनता के हौंसले बढ़ गए और कई सारे युवा स्कूटरों से सड़कों पर आ गए। सुबह १० बजे तक चौराहों पर इक्का- दुक्का यातायात पुलिस वाले थे। वे जनता की मंशा को भांपते रहे, लेकिन जब मामला हद से ज्यादा निकलने लगा तो उन्होंने वाहन चालकों की पकड़ा-धकड़ी शुरू कर दी। उन्हें घर में ही रहने को चेताया व कई के चालान काटे। शाम होते-होते पुलिस के सख्त रवैये की वजह से सड़कों पर आवाजाही बहुत कम हो गई। बाकी दोपहर तक तो वृद्ध से लेकर महिला और जवान बेफिक्र हो कर इधर-उधर घूमते रहे। मेटूटूपालयम रोड पर एक वृद्धा से पूछा गया कि वे सड़क पर क्या कर रहीं तो उन्होंने बताया कि वे अपनी नौकरानी को बुलाने आई है।

Dilip Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned