खेल-कूद और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम

मकर संक्रांति व पोंगल पर्व धूमधाम से मनाया गया। हनुमान मंदिर के पुजारी अशोक शर्मा ने मकर संक्राकि पर्व का महत्व बताया। इसी दिन से मल मास की समाप्ति मानी जाती है और शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं।

मकर संक्रांति व पोंगल पर्व धूमधाम से मनाया गया। हनुमान मंदिर के पुजारी अशोक शर्मा ने मकर संक्राकि पर्व का महत्व बताया। इसी दिन से मल मास की समाप्ति मानी जाती है और शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं।
प्रवासियों ने दान-पुण्य किया व खुशियां मनाई। इधर पोंगल पर्व पर तमिल मूल के लोगों ने पूजा-अर्चना कर सुख समृद्धि की कामना की। विदेशी सैलानी अल्जीरिया की मेलीना एवम् मेरिस हिल ने भी पोंगल की पूजा की। इस मौके पर प्रमिला जॉन सन, खदीर, आनन्द उपस्थित थे। सभी ने मिल कर हांडी में गन्ने का रस, कच्चा चावल, काजू, किशमिश इलायची डाल कर पोंगल बनाया। पोंगल पर्व पर रामास्वामी रोड स्थित सिद्धि विनायक मंदिर में पूजा -अर्चना करते भक्त और कीकाणी स्कूल के पास अपने घर के सामने रंगोली मनाती युवतियां। नागरिकता संशोधन अधिनियम के समर्थन में मदुरै के पलानीसेट्टीपट्टी में पोंगल पर्व पर 100 से अधिक महिलाओं ने रंगोली बनाई। में पोंगल पर्व के मौके पर तमिल महिलाओं के साथ पूजा -अर्चना करती सैलानी।

Rahul sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned