बाड़ में फंसा , आधा घंटे के संघर्ष के बाद छूटा

नीलगिरि जिले के मंजूर इलाके में खेत की बाड़ मेंं फंसे एक तेंदुए की जान पर बन आई। आधा घंटे की मशक्कत के बाद वह खुद को बाड़ से मुक्त कर पाया। इस दौरान वह मामूली जख्मी भी हो गया।

By: brajesh tiwari

Published: 18 Apr 2020, 02:42 PM IST

कोयम्बत्तूर. नीलगिरि जिले के मंजूर इलाके में खेत की बाड़ मेंं फंसे एक तेंदुए की जान पर बन आई। आधा घंटे की मशक्कत के बाद वह खुद को बाड़ से मुक्त कर पाया। इस दौरान वह मामूली जख्मी भी हो गया। सूत्रों के अुनसार ऊटी के पास मंजूर इलाके के किसानों ने खेतों में खड़ी फसल को जंगली जानवरों से बचाने के लिए लोहे के कांटेदार तारों की बाड़ लगा रखी है। कई किसानों ने कांटेदार बाड़ को और सुरक्षित करने के लिए रस्सियों के जाल भी लगा रखे हैं। गुरुवार शाम एक तेंदुए ने किसान वेलमुरुगन के खेत में घुसने की कोशिश की। उसकी नजर खेत के बाड़े में बकरियों, मुर्गो पर थी। लेकिन वह बाड़ और जूट से बने जाल में फंस गया। तेंदुआ घबरा गया और जाल से निकलने की कोशिश के चक्कर में और उलझ गया। तेंदुए को जाल में फंसते आसपास के खेतों के किसानों ने देख लिया था। वे दूर से ही शोर मचाने लगे। इससे तेंदुआ और घबरा कर गुर्राने लगा ।करीब आधा घंटे की उछल कूद व मशक्कत के बाद वह जाल से मुक्त हुआ और जंगल की ओर दौड़ लगा दी।

brajesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned