कोराना वायरस से जूझने के लिए धार्मिक स्थलों पर भी किया सावचेत

शहर के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की संख्या में खासी कमी आई है लेकिन रोज मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं क ो भी सावचेत किया जा रहा है।

कोयम्बत्तूर.शहर के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की संख्या में खासी कमी आई है लेकिन रोज मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं क ो भी सावचेत किया जा रहा है। इसके तहत प्रमुख जैन मंदिरों में मौजूद कार्यकर्ताओं व मंदिर प्रबंधन से जुड़े पदाधिकारियों ने हाथ धोने व मंदिर के रास्ते तथा दिवारों व हैंडबार आदि को साफ किया जा रहा है।
दो वकीलों को जांच के लिए भेजा
जिला संयुक्त न्यायालय परिसर में गुरुवार सुबह कोरोना जागरूकता और चिकित्सा परीक्षण शिविर आयोजित किया गया। शिविर में सभी अधिवक्ताओं की जांच की गई। जाँच के दौरान, दो युवा अधिवक्ताओं, एक पुरुष और एक महिला में लक्षण पाए जाने पर उन्हें आगे की जांच के लिए तुरंत कोयम्बटूर के सरकारी अस्पताल भेज दिया गया।

सस्ते मास्क
महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित फेस मास्क और कीटाणुनाशकों को जिला कलेक्ट्रेट में बिक्री के लिए रखा गया। महिला स्वयं सहायता समूह (स्स्नत्र) के सदस्यों ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि कोरोना के प्रसार के कारण, फेस मास्क और कीटाणुनाशक की उपलब्धता दुर्लभ हो गई है और महंगी भी है।
समूह ने आम लोगों को सस्ते में मास्क बेंचे। उन्होंने कहा कि किसी भी दिन, एक हज़ार फेस मास्क का उत्पादन किया जा सकता है। फेस मास्क कॉटन या पॉली पोपलिन से बने होते हैं, डिस्पोजेबल फेस मास्क की कीमत 20 रुपए है और धो सकते हैं, पुन: प्रयोग मास्क की कीमत है।

Dilip Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned