वरघोड़ा निकाला, धर्ममय हुई कोयम्बत्तूर नगरी

गुरु राजेन्द्र सूरी ट्रस्ट के तत्वावधान में चल रहे तीन दिवसीय गुरु सप्तमी महोत्सव का समापन गुरुवार को हुआ। महोत्सव के तहत गुरुवार सुबह शहर के प्रमुख मार्गों से वरघोड़े की शोभायात्रा निकाली गई।

By: Dilip

Published: 03 Jan 2020, 12:14 PM IST

कोयम्बत्तूर. गुरु राजेन्द्र सूरी ट्रस्ट के तत्वावधान में चल रहे तीन दिवसीय गुरु सप्तमी महोत्सव का समापन गुरुवार को हुआ। महोत्सव के तहत गुरुवार सुबह शहर के प्रमुख मार्गों से वरघोड़े की शोभायात्रा निकाली गई। इसके बाद गुरुपद पूजन के साथ विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। देर शाम तक श्रावकों ने भक्ति संगीत का आनंद लिया। महोत्सव के सभी कार्यक्रम जैन मुनि हितेशचंद्र विजय व दिव्यचंद्र विजय के सानिध्य में संपन्न हुए।

इस अवसर पर धर्मसभा में मुनि हितेशचंद्र विजय ने संघ की एकता व अखंडता पर जोर दिया। उन्होंने गुरुदेव की महिमा का गुणगान किया। उन्होंने कहा कि समस्त जैन संघों को एकता के साथ जैन शासन को दृढ़ बनाना है। उन्होंंने कहा कि कोयम्बत्तूर में पहली बार जैन समाज ने समर्पण भाव से सभी धार्मिक गतिविधियों व कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया यह क्रम आगे भी जारी रहना चाहिए। महोत्सव के दौरान सुबह 8.30 बजे शंखेश्वर अपार्टमेंट से वरघोड़ा निकाला गया। वरघोड़े के साथ जुलूस के रूप में श्रद्धालू गाते बजाते चल रहे थे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned