किसानों ने किया अधिकारियों का घेराव

villagers prevent officials हाई टेंशन टॉवर के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। measuring land for HT tower शनिवार को कोयम्बत्तूर जिले में भी टॉवर लगाने के लिए भूमि का सर्वेक्षण करने गए अधिकारियों को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा।

कोयम्बत्तूर. हाई टेंशन टॉवर के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। शनिवार को कोयम्बत्तूर जिले में भी टॉवर लगाने के लिए भूमि का सर्वेक्षण करने गए अधिकारियों को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा।
किसानों के विरोध के कारण अधिकारियों की टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा।
मिली जानकारी के मुताबिक पॉवर ग्रिड के अधिकारियों का दल Coimbatore सुलूर के पास सुल्तापनेट पंचायत के सुंदरपुरम वरपट्टी गांव में टॉवर high tension tower लगाने के लिए जमीन की नापी करने पहुंचा था।
अधिकारियों ने जमीन नापने का काम शुरू ही किया था कि वहां काफी संख्या में किसान और ग्रामीण एकत्रित हो गए। high tension उन लोगों ने अधिकारियों को घेर लिया और जमीन नापी का विरोध किया।
अधिकारियों की सुरक्षा के लिए पुलिस उपाधीक्षक के साथ करीब सौ पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया था लेकिन ग्रामीणों ने अधिकारियों को नापी नहीं करने दी। काफी देर तक दोनों पक्षों के बीच इस मसले को लेकर बातचीत हुई।
अधिकारियों ने लोगों को टॉवर की आवश्यकता के बारे में समझाने की काफी कोशिश की coimbatore लेकिन किसान टॉवर के लिए जमीन नापने देने को तैयार नहीं हुए। ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए अधिकारी बैरंग वापस लौट गए।
गांव के किसानों का कहना था कि अधिकारियों का दल बिना अनुमति ही टॉवर के लिए जमीन की नापी करने आया था। किसानों का कहना था कि ( Tamil Nadu ) खेती की जमीन उनकी आजीविका का आधार है और वे किसी भी कीमत पर हाई टेंशन टॉवर लगाने के लिए जमीन नहीं देंगे।
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के रायगढ़ से करुर जिले तक 1953 किमी के हाई टेंशन लाइन से बिजली आपूर्ति के लिए 800 किलोवॉट का टॉवर लगाने के लिए कोयम्बत्तूर, ईरोड और तिरुपुर सहित 13 जिलों में भूमि का सर्वेक्षण किया जाना है। कई जगहों पर यह लाइन खेतों के अलावा आवासीय इलाकों के पास से भी गुजरेगी, जिसके कारण किसान और स्थानीय लोग इसका विरोध कर रहे हैं। coimbatore शुक्रवार को विधानसभा में भी किसानों के विरोध का मुद्दा उठा था और सरकार ने लोगों से टॉवर के लिए भूमि सर्वेक्षण और नापी में सहयोग करने की अपील की थी।

किसान संगठनों ने मांगी सांसद से मदद

शनिवार को विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने कोयम्बत्तूर से माकपा के ( Tamil Nadu ) लोकसभा सदस्य पी आर नटराजन से मुलाकात की और इस मसले पर उनसे मदद मांगी। किसानों ने सांसद से खेतों से हाई-टेंशन बिजली लाइन ले जाने का मसला जिला प्रशासन के साथ उठाने की मांग की। coimbatore गांधीपुरम स्थित पार्टी कार्यालय में सांसद के साथ मुलाकात के दौरान किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने जल संकट सहित किसानों से जुड़ी अन्य समस्याओं को लेकर भी चर्चा की। ( Tamil Nadu ) किसानों ने सांसद से कहा कि सूखे सहित अन्य समस्याओं को झेल रहे कृषकों की मुश्किलें खेतों के बीच से हाई-टेंशन बिजली लाइन ले जाने के बाद और भी बढ़ जाएगी क्योंकि इससे जमीन की उर्वरकता प्रभावित होगी। किसानों ने शिकायत की कि हाई-टेंशन टॉवर के लिए जमीन नापी का विरोध करने वाले किसानों को पुलिस धमकाती है । नटराजन ने किसानों को आश्वासन दिया ( Tamil Nadu ) coimbatore कि वे इस मसले को कलक्टर के साथ उठाएंगे और इसका समाधान तलाशने की कोशिश करेंगे। प्रतिनिधिमंडल में तमिलनाडु किसान संघ के अध्यक्ष वी पी इलंगोवन, सचिव वी आर पलनीस्वामी, किसान रक्षा समिति के राजेंद्रन पोन्नुस्वामी, कोंगू पेरवई पेरियासामी सहित अन्य किसान संगठनों के प्रतिनिधि भी शामिल थे।

कुमार जीवेन्द्र झा Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned