ऐसा क्या हुआ कि ठहाके लगा रहे लोग हो गए भावुक

ऐसा क्या हुआ कि ठहाके लगा रहे लोग हो गए भावुक

Kumar Jeevendra | Updated: 04 Jun 2019, 01:21:11 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

हास्य कवि सम्मेलन के दौरान कार्यक्रम के दौरान जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (जीतो)की ओर से पुलवामा विस्फोट के शहीदों को आर्थिक सहायता कार्यक्रम के तहत राज्य के एक शहीद की पत्नी को सहायता प्रदान की गई।

हास्य कवि सम्मेलन के दौरान कार्यक्रम के दौरान जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (जीतो)की ओर से पुलवामा विस्फोट के शहीदों को आर्थिक सहायता कार्यक्रम के तहत राज्य के एक शहीद की पत्नी को सहायता प्रदान की गई। जीतो कोयम्बत्तूर चैप्टर की ओर से तूतीकोरिन जिले के निवासी शहीद सुब्रमण्यम की पत्नी कृष्णावेणी को ३.२० लाख रुपए का चेक दिया गया। संस्था के अध्यक्ष कैलाश जैन, सचिव पवन कोठारी सहित अन्य पदाधिकारियों व सैन्य अधिकारियों ने चैक सौंपा। पत्रिका से बातचीत में कृष्णावेणी ने बताया कि उन्हें इस प्रकार के कार्यक्रम व आर्थिक सहायता से काफी बल मिला। घटना के बाद उनका परिवार सदमे में है। सभी संस्थाएं मदद के लिए तैयार हैं लेकिन जो उन्होंने खोया वह दोबारा नहीं मिल सकता। २३ वर्षीय कृष्णा का कहना है कि उनका विवाह करीब डेढ़ वर्ष पूर्व हुआ था। शहीद परिवार को सम्मानित करने व उसकी चिंता का जज्बा देश में सदैव से कायम है, यह खुशी की बात है। उन्हेंं एक सरकारी उपक्रम में नौकरी मिल गई है। यह उनके लिए संतोष की बात है। केन्द्र व सेना से भी उन्हें मदद मिली है।
माहौल हुआ भावुक
हास्य कवि सम्मेलन के दौरान जब शहीद की पत्नी को सम्मानित करने के लिए मंच पर बुलाया गया तो माहौल एकदम भावुक हो गया। शहीद के सम्मान में सभी लोग खड़े हो गए। कई लोगों की आंखें नम हो गईं। मंच पर मौजूद कवियों ने शहीद की पत्नी के पैर छुए। शहीद की पत्नी भी काफी भावुक हो गईं। उद्घोषक व कवियों ने भी अपनी रचनाओं के दौरान देशभक्ति के जज्बे को सलाम किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned