दो घंटे में दो हजार वाहनों पर लगाया पीला निशान

कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन की कई लोग परवाह नहीं कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन की अपील का खास असर नहीं हो रहा। शहर में बुधवार सुबह नौ से ग्यारह बजे के बीच पुलिस ने आज वाहन चालकों को रोक कर बाहर निकलने की वजह जाननी चाही तो बड़ी संख्या में लोग बहाने बनाने लगे। इस पर करीब दो हजार वाहनों पर पीली लाइन अंकित की गई।

By: Dilip

Published: 23 Apr 2020, 12:39 PM IST

कोयम्बत्तूर. कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन की कई लोग परवाह नहीं कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन की अपील का खास असर नहीं हो रहा। शहर में बुधवार सुबह नौ से ग्यारह बजे के बीच पुलिस ने आज वाहन चालकों को रोक कर बाहर निकलने की वजह जाननी चाही तो बड़ी संख्या में लोग बहाने बनाने लगे। इस पर करीब दो हजार वाहनों पर पीली लाइन अंकित की गई। साथ ही वाहन चालक को चेतावनी दी गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कई लोग न तो कोरोना की भयावहता को समझ रहे हैं और न लॉकडाउन की गंभीरता से ले रहे हैं। पुलिस प्रशासन लगातार लोगों को समझा रहा है पर उन पर असर नहीं पड़ रहा। बिना वजह सड़कों पर निकल रहे वाहन चालकों पर अंकुश के लिए शहर में 34 चेक पोस्टों पर जांच की गई। इस दौरान पुलिस ने 1788 दो पहिया वाहन व 445 चार पहिया व आठ तीन पहिया वाहनों पर पीली लाइन डाली। चालकों से कहा गया कि पहली बार में छोड़ा जा रहा है।

दूसरी बार पकड़े गए तो कड़ी कार्रवाई के रूप में जुर्माना वसूला जा सकता है। तीसरी बार में वाहन जब्त कर लिया जाएगा। पुलिस ने पैदल जा रहे लोगों को भी रोक कर पूछताछ की। इस कवायद का उद्देश्य लॉकडाउन के दौरान बेवजह घरों से बाहर निकलने वाले लोगों को हतोत्साहित करना है। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान दोपहर एक बजे तक अति आवश्यक होने पर ही बाहर निकलने की अनुमति है। इस दौरान किराना, सब्जी, दूध, दवा आदि की दुकानें खुलती है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned